अक्टूबर मे होगा मंत्री मंडल विस्तार ...ब्लूप्रिंट बना कर गये विनय सहस्त्रबूद्धे

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 16662

Bhopal: 17 सिमंबर 2017। केरवा में हुई सत्ता और संगठन की बैठक के बाद से मंत्रिमंडल विस्तार की सुगबुगाहट तेज़ हो गई है। माना जा रहा है शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार का ब्लू प्रिंट तैयार हो गया है। कितने मंत्रियो को हटाया जायेगा,कितनो को कद घटेगा और किन नए चेहरो को मंत्रिमंडल में शामिल किया जायेगा यह लगभग तय हो गया है।सूत्रों की माने तो मुख्यमंन्त्री शिवराज अक्टूबर में होने वाली संघ की वैठक के बाद मंत्री मंडल विस्तार कर सकते हैं।

शनिवार को केरवा गेस्ट हाउस में हुई प्रदेश भाजपा की अहम बैठक ने मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर राजनैतिक बाजार गर्म कर दिया है।इस बैठक में बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओर प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे मुख्यमंन्त्री शिवराज के साथ संगठन महामंत्री सुहास भगत की मौजूदगी ने मंत्रिमंडल विस्तार की अफवाहों को बल दिया है।माना जा रहा है कि टॉप लेवल की इस बैठक में सभी मंत्रियो की परफार्रमेंस रिपोर्ट पर भी मंथन हुआ। हटाए जाने वाले नामो व शामिल किए जाने वाले नए चेहरो को लेकर भी चर्चा हुई। इन सभी नामो को दिल्ली से हरी झंडी मिलने के बाद मंत्रिमंडल विस्तार का दिन तय किया जायेगा।

सूत्रों की माने तो चार से पांच मंत्रियों को खराब परफॉर्मेंस के चलते हटाया का सकता है।

हटाये जा सकने वाले मंत्री
- जेलमंत्री कुसुम मेहदाले-खराब परफॉर्मेंस के चलते।
- खाद्य मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे - खराब परफॉरमेंस
- आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हर्ष सिंह- स्वास्थ्य कारण
- उद्यानिकी मंत्री सूर्यप्रकाश मीणा - खराब परफॉर्मेंस

माना जा रहा है राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने दौरे से पहले ही सभी मंत्रियों की परफॉर्मेंस रिपोर्ट बुलवा ली थी।जिसके बाद भोपाल में शाह ने सभी मंत्रियों को ठीक से काम करने की चेतावनी दी थी।इसके बाद से ही कियास लगने लगे थे कि शिवराज को मन्त्रिमण्डल विस्तार के लिए फ्री हैंड मिल चुका है। मंत्री मंडल विस्तार की खबरों को बल तब मिला कब कल केरवा की बैठक आनन फानन में बुलाई गई।लेकिन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे मंत्रिमंडल विस्तार की खबरों को निराधार बताते नजर आए।

दरअसल मुख्यमंन्त्री शिवराज ने हाल ही में संकेत दिए थे कि जल्द ही कुछ नए मंत्री बनेंगे ओर कुछ हट भी सकते हैं।इसके बाद से ही मंत्रिमंडल में फेरबदल की चर्चा थी गौरतलब है कि वर्तमान में शिवराज मंत्रिमंडल में 28 मंत्री हैं। जिनमें 19 कैबिनेट मंत्री और 9 राज्यमंत्री है। इससे पहले मुख्यमंन्त्री शिवराज ने 30 जून 2016 को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया था।

जिनको मंत्रिमंडल में शामिल किये जाने की चर्चा है।
- इंदौर से रमेश मेंदोला।
महेंद्र हार्डिया।
सुदर्शन गुप्ता।
-विंध्य से शंकरलाल तिवारी।
केदारनाथ शुक्ल।
जय सिंह मरावी।
मीना सिंह।
महाकौशल से संजय शर्मा।
चंद्रभान सिंह।
रामप्यारे कुलस्ते।
ग्वालियर चंबल से गोपीलाल जाटव।
नारायण सिंह कुशवाहा।
मंदसौर से यशपाल सिंह सिसोदिया।
मनावर रंजना बघेल।
ओमप्रकाश सखलेचा।

इनके अलावा माना जा रहा है संभावित विस्तार में मंत्रियों के विभाग भी बदले जा सकते हैं। साथ ही मिशन 2018 के पहले मंत्रिमंडल का यह अंतिम विस्तार होगा। यही वजह है कि चाहे सत्ता हो या संगठन मंत्रिमंडल विस्तार को गंभीरता से ले रहा है। आखिर इसी बहाने शिवराज मंत्रियों को हटा कर जनता को संदेश देना चाहेंगे कि जो काम नही कर सकता उसे जनहित में सरकार बर्दाश्त नही करेगी।वहीं नए चेहरों को लाके शिवराज क्षेत्रीय संतुलन बनाने की कवायद करेंगे।

- डा.नवीन जोशी


Madhya Pradesh, MP News, Madhya Pradesh News


Related News

Latest Tweets