कांग्रेस विधायक के खिलाफ एफआईआर का मामला पहुंचा हाईकोर्ट

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: Admin                                                                         Views: 696

Bhopal: 17 फरवरी 2018। हेमंत कटारे की शिकायत पर भोपाल पुलिस ने जर्नलिज्म की स्टूडेंट को ब्लैकमेलिंग के केस में गिरफ्तार किया था.

रेप और अपहरण के केस में फंसे कांग्रेस विधायक हेमंत कटारे ने अपने खिलाफ दर्ज एफआईआर निरस्त करने के लिए हाई कोर्ट में गुहार लगाई गई है. अलग-अलग याचिकाओं में भोपाल में दर्ज दो एफआईआर को रद्द करने की अपील की गई है.

जबलपुर हाई कोर्ट में दायर इन याचिकाओं पर अगले सप्ताह सुनवाई संभव है. अभी पुलिस के रिकॉर्ड में हेमंत कटारे फरार चल रहे है और उनकी गिरफ्तारी पर पुलिस ने 10 हजार रुपए के इनाम का ऐलान भी किया है.

दरअसल, हेमंत कटारे की शिकायत पर भोपाल पुलिस ने जर्नलिज्म की स्टूडेंट को ब्लैकमेलिंग के केस में गिरफ्तार किया था. इस युवती ने ही विधायक पर रेप के आरोप लगाए थे. जेल से भेजी उसकी चिट्ठी के आधार पर महिला थाने में विधायक के खिलाफ रेप का केस दर्ज हुआ था. वहीं, युवती की मां ने बजरिया थाने पर विधायक कटारे के खिलाफ अपहरण और धमकाने की शिकायत की थी.

पुलिस ने घोषित किया 10 हजार का इनाम

मध्य प्रदेश की राजनीति में भूचाल लाने वाले रेप केस में फरार कांग्रेसी विधायक को भोपाल पुलिस 16 दिन बाद भी ढूंढने में नाकाम रही है. अब पुलिस ने जर्नलिज्म स्टूडेंट से रेप केस में आरोपी कांग्रेस विधायक पर 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है. साथ ही विधायक से ब्लैकमेलिंग केस में रेप पीड़िता के साथ सह आरोपी विक्रमजीत सिंह का सुराग देने पर भी पुलिस ने 10 हजार रुपए का इनाम रखा है.

राजनीतिक रंग ले चुके इस मामले में पुलिस ने हेमंत कटारे की तलाश में कुछ जगहों पर दबिश दी थी. हालांकि, पुलिस की इस कार्रवाई को महज रस्म अदायगी माना जा रहा था. अब पुलिस ने इस कार्रवाई के आधार पर एक फरारी पंचनामा तैयार किया है और हेमंत कटारे की गिरफ्तारी पर इनाम घोषित किया है.

इस बीच ब्लैकमेलिंग केस में गिरफ्तार होने के बाद जमानत पर रिहा होने वाली जर्नलिज्म स्टूडेंट ने कटारे के दोनों गनमैन के बयान दर्ज कराने के लिए डीआईजी धर्मेंद्र चौधरी को पत्र लिखा है. चुंकि इस मामले की जांच एसआईटी कर रही है. इस वजह से डीआईजी ने पत्र एसआईटी चीफ राहुल लोढ़ा को भेज दिया है.

क्या है मामला
विधायक से ब्लैकमेलिंग के आरोप में गिरफ्तारी के बाद जेल में बंद रहने के दौरान छात्रा ने भोपाल डीआईजी के नाम एक आवेदन पुलिस को भेजा था, जिसमें विधायक पर रेप करने और फिर उसे एक झूठे मामले में फंसाने का जिक्र किया गया था. इस आवेदन की तस्दीक करने के बाद महिला थाने पर विधायक हेमंत कटारे के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 के तहत केस दर्ज कर लिया गया था.

कांग्रेस विधायक पर रेप केस, पढ़ें- 'राजनीति में भूचाल लाने वाली FIR'

वहीं, इस मामले में छात्रा की मां ने डीआईजी को अलग से शिकायत की थी कि विधायक कटारे ने उनका अपहरण कर उनसे जबरन कुछ कागजातों पर साइन कराए और दबाव डालकर वीडियो बनाया गया. मां की शिकायत पर बजरिया थाने पर अपहरण का केस दर्ज किया गया है.

कौन है विक्रमजीत..?
विधायक से ब्लैकमेलिंग केस में पुलिस ने छात्रा के अलावा विक्रमजीत सिंह नाम के युवक को भी आरोपी बनाया था. पुलिस अब तक उसकी भी तलाश करने में नाकाम रही है. हालांकि, विक्रमजीत मीडिया को कई बार इंटरव्यू दे चुका है, लेकिन पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर सकी. अब उस पर भी पुलिस ने 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है.

Related News

Latest Tweets