कालेजों के प्राचार्यों को रैगिंग के प्रकरण न छुपाने के निर्देश

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 189

Bhopal: 21 जनवरी 2020। राज्य के उच्च शिक्षा आयुक्त ने सभी शासकीय/अनुदान प्राप्त अशासकीय/निजी कालेजों के प्राचार्यों को निर्देश दिये हैं कि रैङ्क्षगग को रोकने के लिये प्रभावी कार्यवाही कार्यवाही करें एवं रैगिंग के प्रकरणों को छिपाये नहीं। उच्च शिक्षा आयुक्त ने ये निर्देश मप्र मानव अधिकार आयोग की अनुशंसा पर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग नई दिल्ली द्वारा जारी दिश-निर्देशों पर जारी किये हैं।
उच्च शिक्षा आयुक्त ने राज्य के सभी जिला कलेक्टरों एवं पुलिस अधीक्षकों को
भी कहा है कि वे अपने जिले में स्थित सभी शासकीय एवं निजी महाविद्यालयों में रैगिंग को रोकने के लिये प्रभावी कार्यवाही करें।

प्रदेश के विश्वविद्यालयों एवं कालेजों के
समारोहों में अब खादी का उपयोग होगा

भोपाल।प्रदेश में स्थित सभी विश्वविद्यालयों एवं उनके अधीनस्थ कालेजों में अब उनके द्वारा आयोजित दीक्षांत समारोहों एवं अन्य विशेष अवसरों पर खादी वस्त्र के परिधानों का ही उपयोग होगा। इस संबंध में राज्य के उच्च शिक्षा आयुक्त ने निर्देश जारी कर दियें हैं। खादी के वस्त्रों के उपयोग हेतु विवि अनुदान आयोग नई दिल्ली तथा मप्र के कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग ने आग्रह किया है।
स्वतंत्रता की वर्दी है खादी :
विवि अनुदान आयोग ने इस संबंध में बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खादी के उपयोग तथा हथकरघा के पुनरुध्दार को काफी महत्व दिया है। महात्मा गांधी ने भारतीय स्वतंत्रता के संघर्ष के दौरान हाथ से काते गये और हथकरघा कपड़े, खादी का उपयोग एक हथियार के रुप में किया था और इसलिये इसे स्वतंत्रता की वर्दी के रुप में भी जाना जाता है। खादी का उपयोग न केवल भारतीय होने का गौरव प्रदान करेगा बल्कि गर्म और आद्र्र मौसम में भी अधिक आरामदायक होगा।


- डॉ. नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets