झांकियों में मूर्तिया 6 फीट ऊंची होगी, मापदण्ड के अनुरूप मूर्ति नहीं बनी तो होगी कार्रवाई

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 16401

Bhopal: गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी मूर्तिकारों को प्लॉस्टर ऑफ पेरिस की बड़ी या छोटी मूर्तियां बनाने पर प्रतिबंध लगाने को लेकर जिला प्रशासन सक्रिय हो गया है। इस मुद्दे को लेकर शुक्रवार को एडीएम जीपी माली ने झांकी समितियों की एक बैठक ली। बैठक में मूर्तिकारों को साफ तौर पर कह दिया कि दुर्गा एवं गणेश उत्सव के दौरान झांकियों व घरों में रखी जाने वाली मूर्तियों की लम्बाई अधिकतम छ: फीट ही होनी चाहिए, वह भी मिट्ट की बनी हुई। इसपर झांकी समिति के एक सदस्य ने कहा कि यदि कोई दूसरा बड़ी मूर्ति बनाएगा तो हम क्या करेंगे, इस पर श्री माली ने कहा कि कलेक्टर निशांत वरवड़े जी ने इसके लिए 10 सदस्यीय समिति गठित कर दी है। इस समिति में प्रशासन के साथ झांकी समिति व मूर्तिकार भी शामिल होंगे। समिति मूर्तिकारों को

समझाइस देने का काम करेगी।
ज्ञात हो कि गत दिनों शांति समिति की बैठक में कुछ सदस्यों ने यह मुद्दा उठाया था कि भगवान गणेश व मां दुर्गा की प्रतिमाएं ही नहीं बल्कि ताजियों की भी हाईट 6 फीट तय की जाए तथा बड़ी मूर्तियों के बनने पर पहले से ही रोक लगाने की व्यवस्था की जाए। इस दौरान कलेक्टर ने एडीएम से इस संबंध में एक बैठक कर समझाईश दी जाए।

अलग से होगी मूर्तिकारों से चर्चा
बैठक में झांकी समितियों के पदाधिकारियों ने बताया कि भोपाल में 10 फ ीसदी मूर्तिकारों को ही मिट्टी की मूर्तियां बनाना आता है। ये मूर्तियां बनाने के लिए बंगाल से ही मूर्तिकार भोपाल आते हैं। एडीएम ने कहा कि बंगाल के मूर्तिकारों से भी आगामी दिनों में बैठक की जाएगी। ताकि वह भी छह फीट से अधिक ऊंचाई की मूर्तियां नहीं बनाएं। एडीएम ने बैठक में उपस्थित पुलिस के अधिकारियों से कहा कि वह थानों के माध्यम से मूर्तिकारों की सूची तैयार कराएं। इस सूची के आधार पर ही उन्हें समझाईश देने की तैयारी की जाएगी ताकि वे जिला प्रशासन की मंशानुसार मूर्तियां तैयार कर सकें। इससे पर्यावरण भी संरक्षित रहेगा।

10 सदस्यीय समिति में ये रहेंगे शामिल
10 सदस्यीय समिति में नारायण सिंह कुशवाह, मनीष श्रीवास्तव, भगवानदास यादव, प्रमोद नेमा, आनंद तारण, शिव यादव समेत पुलिस विभाग, नगर निगम, प्रदूषण नियंत्रण मंडल एवं एनजीटी से एक.एक अधिकारी या प्रतिनिधि शामिल होगा। ये सभी मूर्तिकारों व झांकी समितियों को समझाईश देंगे।

मूर्तिकारों ने मांगी जगह
पुराने शहर में मंगलवारा, इतवारा समेत घोड़ा नक्कास में मूर्ति निर्माण करने वाले प्रजापति समाजजनों ने शनिवार को नारायण सिंह कुशवाह की अगुआई में कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में समिति ने यादगारे शाहजहांनी पार्क के पास रिक्त भूमि को तीन माह के लिए अस्थाई रूप से मूर्ति बनाने के लिए आवंटित करने की मांग की।

Related News

Latest Tweets