दिग्विजय सिंह को नर्मदा परिक्रमा में कठिन नियमों का पालन करना होगा

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 16531

Bhopal: 14 सितंबर 2017। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की आगामी 30 सितम्बर से छह माह तक होने वाली नर्मदा परिक्रमा यात्रा में उन्हें कठिन नियमों का पालन करना होगा। इस यात्रा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उनकी मदद करेंगे। दरअसल दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को राज्यसभा सदस्य के रुप में अधिकृत पत्र लिखा है कि वे 30 सितम्बर से नर्मदा परिक्रमा शुरु करेंगे तथा इस परिक्रमा के दौरान विभिन्न आवश्यक्त व्यवस्थायें शासन एवं प्रशासन की ओर से की जायें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस पत्र के आधार पर अपने चार विभागों को समुचित व्यवस्थायें करने के लिये पाबंद कर दिया है। इनमें शामिल हैं गृह विभाग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग तथा नगरीय प्रशासन विभाग।

दिग्विजय सिंह यह नर्मदा परिक्रमा यात्र अपनी धर्मपत्नी के साथ करेंगे तथा उन्होंने इस बात की भी जानकारी मुख्यमंत्री को लिखित में दी है। यह परिक्रमा नरसिंहपुर जिले के नर्मदा नदी स्थित बरमान घाट से प्रारंभ करेंगे तथा इस परिक्रमा को वे पैदल ही करेंगे और यह छह माह में पूर्ण होगी। उनकी यह यात्रा पूरी तरह धार्मिक एवं गैर राजनैतिक होगी लेकिन यात्रा के दौरान कांग्रेस पार्टी के अन्य नेता एवं कार्यकत्र्ता जगह-जगह उनसे जुड़ेंगे। यात्रा वापस वापस बरमान घाट पर ही खत्म होगी।

दिवंगत केंद्रीय राज्य मंत्री अनिल माधव दवे की भोपाल स्थित नर्मदा समग्र संस्था के अनुसार व्रत और निष्ठापूर्वक की जाने वाली नर्मदा परिक्रमा 3 वर्ष 3 माह और 13 दिन में पूरी करने का विधान है, परन्तु कुछ लोग इसे 108 दिनों में भी पूरी करते हैं। परिक्रमावासियों के लिये सामान्य नियम भी हैं कि प्रतिदिन नर्मदा जी में स्नान करें। जलपान भी रेवा जल का ही करें। प्रदक्षिणा में दान ग्रहण न करें। श्रद्धापूर्वक कोई भोजन करावे तो कर लें क्योंकि आतिथ्य सत्कार का अंगीकार करना तीर्थयात्री का धर्म है। व्यर्थ वाद-विवाद, पराई निदा, चुगली न करें। वाणी का संयम बनाए रखें। सदा सत्यवादी रहें। बाल न कटवायें। नख भी बारंबार न कटावें। वानप्रस्थी का व्रत लें, ब्रह्मचर्य का पूरा पालन करें। सदाचार अपनायें रहें। श्रृंगार की दृष्टि से तेल आदि कभी न लगावें। साबुन का प्रयोग न करें। शुद्ध मिट्टी का सदा उपयोग करें।

राज्य शिष्टाचार अधिकारी के अनुसार, हम सिर्फ स्टेट गेस्ट को आवास,भोजन और वाहन की सुविधा प्रदान करते हैं। दिग्विजय सिंह स्टेट गेस्ट नहीं हैं। उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री के रुप में सिर्फ केबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त है और उन्हें इसी अनुरुप सुविधायें मिलेंगी।


- डा.नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets