प्रशासन अकादमी लेगा नवागत आईएएस व राप्रसे अफसरों की परीक्षा

Location: भोपाल                                                 👤Posted By: वेब डेस्क                                                                         Views: 16427

भोपाल: 15 अक्टूबर 2016, भारतीय प्रशासनिक सेवा और राज्य प्रशासनिक सेवा में नवनियुक्त अधिकारियों को ट्रेनिंग पूर्ण करने के पश्चात प्रशासन अकादमी भोपाल द्वारा आयेजित परीक्षा उत्तीण करना अनिवार्य कर दिया गया है। नवागत आईएएस प्रदेश में सहायक कलेक्टर के पद पर और नवागत राप्रसे अधिकारी डिप्टी कलेक्टर के रुप में पदस्थ किये जाते हैं। इन दोनों श्रेणी के अधिकारियों को प्रशासन अकादमी परिचयात्मक यानी इंडक्शन ट्रेनिंग के तत्काल उपरान्त परीक्षायें आयोजित करेगा।

प्रशासन अकादमी द्वारा राजस्व प्रशासनिक विधि तथा प्रक्रिया, दाण्डिक विधि तथा प्रक्रिया, सिविल विधि तथा प्रक्रिया, लेखा व वित्त, मप्र स्थानीय शासन, केस स्टडीज एवं गैर हिन्दी भाषी प्रशिक्षु अधिकारी के लिये हिन्दी भाषा की परीक्षायें ली जायेंगी। जिन अधिकारियों के पास एलएलबी या बीएल की उपाधि होगी उन्हें दाण्डिक विधि तथा प्रक्रिया के प्रथम प्रश्न की परीक्षा उत्तीर्ण करने से छूट रहेगी।

परीक्षा उत्तीर्ण न करने पर मिलेगा यह दण्ड :
नवागत आईएएस एवं राप्रसे अफसरों को प्रशासन अकादमी की परीक्षायें उत्तीर्ण करने के लिये दो वर्ष का समय मिलेगा। यदि इस अवधि में वे परीक्षा उत्तीर्ण नहीं करते हैं। तो सहायक कलेक्टर को सेवा में स्थायीकरण नहीं किया जायेगा तथा द्वितीय वेतन वृध्दि रोक ली जायेगी जबकि सीधी भर्ती द्वारा डिप्टी कलेक्टर बने अधिकारियों का भी सेवा में स्थायीकरण नहीं किया जायेगा और वेतन वृध्दि रोक ली जायेगी। पदोन्नत डिप्टी कलेक्टरों को भी दो साल में ये परीक्षायें उत्तीर्ण न करने पर उन्हें सेवा में स्थायी न करने का दण्ड दिया जायेगा।
प्रशासन अकादमी हर छह माह में ये परीक्षायें आयोजित करेगा तथा दो साल में उक्त सभी वर्ग के अधिकारियों को ये परीक्षायें उत्तीर्ण करने हेतु चार बार अवसर मिलेंगे।


- डॉ नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets