भारत-जापान के बीच ऐतिहासिक परमाणु समझौते पर मुहर

Location: NEW DELHI                                                 👤Posted By: Digital Desk                                                                         Views: 942

NEW DELHI: 11 नवम्बर 2016, विश्व और एशिया में भारत-जापान के मजबूत संबंधों को 'स्थिरता का कारक' बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि वह भारत को 'विश्व की सबसे खुली अर्थव्यवस्था' बनाना चाहते हैं. मोदी जापान की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं. वह गुरुवार को टोक्यो पहुंचे.

टोक्यो में व्यवसायियों से बात करने के बाद मोदी ने ट्वीट किया, 'मैं यह कहता रहा हूं कि भारत और जापान एशिया के उदय में एक अहम भूमिका निभाएंगे.'

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एशिया अपने प्रतिस्पर्धी विनिर्माण और बाजार के विस्तार के कारण वैश्विक विकास के लिए एक नए केंद्र के रूप में उभरा है.

मोदी ने जापान के उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों की प्रशंसा की. उन्होंने कहा, 'भारत में 'जापान' को गुणवत्ता, उत्कृष्टता, ईमानदारी और निष्ठा का प्रतीक माना जाता है.'

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों को आगे आकर क्षमता और उज्जवल संभावनाओं का विस्तार करना चाहिए.
अपने एक दूसरे ट्वीट में मोदी ने कहा कि 'मेड इन इंडिया' और 'मेड बाय जापान' का संयोजन शानदार रूप से काम कर रहा है.
मोदी ने भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का चौथा सबसे बड़ा स्रोत होने के लिए जापान की प्रशंसा की.

अपनी तीन दिवसीय यात्रा के दौरान मोदी जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ वार्षिक द्विपक्षीय सम्मेलन में शामिल होंगे. इसके साथ ही शनिवार को दोनों नेता कोबे के लिए शींकान्सेन हाई स्पीड ट्रेन में यात्रा भी करेंगे.

पिछले साल भारत में आबे के दौरे के दौरान जापान ने मुंबई और अहमदाबाद के बीच हाई स्पीड ट्रेन के विकास की प्रतिबद्धिता जताई थी.पिछले दो साल में जापान में यह मोदी का दूसरा दौरा है.

Related News

Latest Tweets