भोपाल के निकट अश्वों के मेले पर लगा प्रतिबंध

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 16774

Bhopal: 14 नवंबर 2017। राज्य सरकार ने अश्व प्रजाति के पशुओं में बढ़ते घातक ग्लैण्डर्स रोग के कारण ग्वालियर के बाद अब भोपाल के निकट राजगढ़ जिले की कुरावर नगर परिषद क्षेत्र में भी इन पशुओं की खरीद-फरोख्त हेतु लगने वाले मेले, प्रदर्शनी, ख्ेलकूद, दौड़ एवं एकत्रीकरण पर रोक लगा दी है।

इसके लिये राज्य के पशुपालन विभाग ने केंद्र सरकार के आठ साल पुराने कानून पशुओं में संक्रामक एवं संसर्गजन्य रोगों के नियंत्रण तथा रोकथाम अधिनियम 2009 के तहत कार्यवाही की है। इस संबंध में जारी अधिसूचना में कहा गया है कि कुरावर जिला राजगढ़ में ग्लैण्डर्स रोग के उत्पन्न होने के कारण रोग के बचाव, नियंत्रण एवं उन्मुलन हेतु राज्य सरकार कुरावर नगर परिषद क्षेत्र को अश्व प्रजाति के पशुओं हेतु नियंत्रित क्षेत्र घोषित करती है। परिणाम स्वरुप अश्व प्रजाति के सभी पशुओं का कुरावर नगर परिषद क्षेत्र में आवगमन को प्रतिबंधित करती है। साथ ही इन पशुओं की दौड़, मेले, प्रदर्शनी, खलकूद एवं एकत्रीकरण को प्रतिबंधित करती है।

ज्ञातव्य है कि अश्व प्रजाति के अंतर्गत गदहे, घोड़े, खच्चर आदि आते हैं। ग्लैण्डर्स रोग के कारण अश्व प्रजाति के पशुओं के पूरे शरीर में गांठे होने लगती हैं। नाक और मुंह से लगातार पानी बहता रहता है और धीरे-धीरे गांठे काफी विकराल रुप धारण करेे जानलेवा बन जाती हैं। इस दौरान रोगी पशु के सम्पर्क में आने वाला प्रत्येक पशु और इंसान भी इसका शिकार बन जाता है। इसका इलाज काफी मंहगा होता है और 9 माह से लेकर एक साल तक इलाज करना होता है। इसलिये ऐसे रोग से ग्रसित पशु को मारने की सलाह दी जाती है।

पशुपालन विभाग के अधिकारियों के अनुसार, अश्व प्रजाति के पशुओं में पड़ौसी राज्य राजस्थान में ग्लैण्डर्स रोग काफी फैला हुआ है। इसी कारण पहले ग्वालियर में तथा अब राजगढ़ के कुरावर में इनकी आवाजाही आदि पर प्रतिबंध लगाया गया है। स्टेण्डर्ड प्रोटोकाल के तहत वहां निरन्तर सेम्पल लेने आदि का कार्य किया जाता है। जब सम्पल में रोग की कमी पाई जाती है तब प्रतिबंध खत्म कर दिया जाता है।


- डॉ नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets