शिवराज ने बनाया विधायकों को श्रवण कुमार

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: Admin                                                                         Views: 424

Bhopal:
- तीर्थदर्शन योजना में वृध्दजनों को ले जायेंगे
- मूल तीर्थ स्थल के आसपास भी घुमायेंगे
- जिन्हें पहले तीर्थ के पांच साल हो गये वे फिर तीर्थ यात्रा कर सकेंगे



22 जनवरी 2018। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में बड़ा बदलाव हुआ है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी विधायकों को श्रवण कुमार बनाते हुये इस योजना के तहत वृध्दजनों को निर्धारित तीर्थस्थलों को घुमाने का जिम्मा दे दिया है। यही नहीं, मूल तीर्थस्थल के आसपास के दर्शनीय स्थलों पर भी ये वृध्दजन अब भ्रमण कर सकेंगे। इसके अलावा जिन वृध्दजनों ने तीर्थ दर्शन योजना के तहत एक बार यात्रा कर ली है और उन्हें यह यात्रा किये पांच साल हो गये हैं, वे फिर से इस योजना के तहत सरकारी खर्चे पर पुन: तीर्थ यात्रा कर सकेंगे।

राज्य के धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग ने छह साल बाद अपनी मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना नियम 2012 में बदलाव कर दिया है। नियमों में मप्र विधानसभा के वर्तमान विधायकों को भी शामिल किया गया है तथा उपबंध किया गया है कि कोई विधायक भी यदि श्रृध्दालुओं के साथ तीर्थ यात्रा पर जाना चाहेंगे तो उन्हें भी यात्रा में जाने की सुविधा प्रदान की जायेगी। विधायक पर नियम की ये शर्तें लागू नहीं होंगी कि वह मप्र का मूल निवासी हो, साठ वर्ष से अधिक आयु का हो, आयकर दाता न हो तथा इस योजना के अंतर्गत पूर्व में यात्रा न की हो।

नियमों में एक बदलाव यह भी किया गया है कि अब योजना के तहत सात तीर्थ स्थलों की यात्रा पर जाने पर उन तीर्थस्थलों के आसपास के दर्शनीय स्थलों का भी तर्थयात्री सरकारी व्यय पर भ्रमण कर सकेंगे। इनमें रामेश्वरम के पास मदुरई, तिरुपति के पास श्रीकालहस्ती, द्वारका के पास सोमनाथ, पुरी के पास गंगासागर, हरिद्वार के पास ऋषिकेश, अमृतसर के पास वैष्णोदेवी तथा काशी के पास गया शामिल किया गया है। एक अन्य बदलाव के तहत अब तीर्थयात्रा के लिये ऐसे व्यक्ति पुन: पात्र होंगे जिनको इस योजना के अंतर्गत यात्रा किये हुये पांच वर्ष की अवधि पूर्ण हो गई है तथा वृध्द महिला को आयु सीमा में दो वर्ष की छूट प्रदान की गई है।

ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना के तहत साठ साल से अधिक आयु के वृध्दों को नि:शुल्क तीर्थयात्रा कराई जाती है। इस योजना के तहत अब तक 5 लाख 26 हजार बुजुर्ग तीर्थ-यात्रियों को तीर्थ-दर्शन करवाये गये हैं। योजना में अब तक 526 ट्रेन संचालित की गई हैं। इस वर्ष मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना में 200 ट्रेन संचालित की जायेंगी। जारी इस वर्ष में योजना का लाभ दो लाख तीर्थ-यात्रियों को दिया जायेगा।

विभागीय अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना में अब विधायकों को भी शामिल किया गया है तथा वे श्रवण कुमार की भूमिका अदा कर इस योजना के तहत तीर्थयात्रा पर जा रहे वृध्दजनों के साथ यात्रा में जा सकेंगे। उनके व्यय की व्यवस्था विधायक स्वयं करेंगे।


- डॉ नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets