हॉकी में शानदार जीत, क्रिकेट में शर्मनाक हार

Location: New Delhi                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 420

New Delhi: 18 जून 2017, लंदन में भारत और पाकिस्तान का मुकाबला बराबरी का रहा। हॉकी में जहां भारतीय टीम ने पाकिस्तान को बुरी तरह रौंद दिया वहीं चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाक के हाथों भारतीय क्रिकेट टीम को शर्मनाक हार मिली। करोड़ों भारतीय क्रिकेट प्रेमियों को जहां भारतीय हॉकी टीम ने खुशियों की सौगात दी वहीं विराट सेना ने क्रिकेट प्रेमियों को दिल तोड़ दिया।

पाकिस्तान बना चैम्पियन, रिकार्ड अंतर से हारी भारतीय टीम पाकिस्तान ने हरफनमौला खेल का बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए रविवार को मौजूदा विजेता भारत को आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में 180 रनों के भारी अंतर से मात देकर पहली बार खिताब अपने नाम कर लिया। पाकिस्तान द्वारा रखे गए 339 रनों के लक्ष्य के दबाव में भारत का मजबूत और गहरा बल्लेबाजी क्रम ताश के पत्तों की तरह ढह गया और पूरी टीम 30.3 ओवरों में महज 158 रनों पर सिमट गई।

आईसीसी टूनार्मेंट के फाइनल में यह किसी भी टीम द्वारा रनों के लिहाज से हासिल की गई सबसे बड़ी जीत है। 43 गेंदों में चार चौके और छह छक्के की मदद से तूफानी 76 रन बनाने वाले हार्दिक पांड्या ने भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाए। मोहम्मद आमिर और हसन अली ने तीन-तीन विकेट लिए। शादाब खान को दो विकेट मिले। जुनैद के हिस्से एक सफलता आई।

इससे पहले, फखर जमान (114), अजहर अली (59) और मोहम्मद हफीज (57) ने भारतीय गेंदबाजों की जमकर धुनाई की और बोर्ड पर विशाल स्कोर टांग दिया। पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए अब तक का सबसे बड़ा स्कोर बनाया। साथ ही यह चैम्पियंस ट्रॉफी में आईसीसी की पूर्ण सदस्यता वाले देश के खिलाफ बनाया गया सवोर्च्च स्कोर भी है। इससे पहले चैम्पियंस ट्रॉफी में न्यूजीलैंड ने सितम्बर 2004 में गैर पूर्ण सदस्यता वाले देश अमेरिका के खिलाफ 347 रन बनाए थे।

भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार, हार्दिक पांड्या और केदार जाधव ने एक-एक विकेट लिया। एक बल्लेबाज रन आउट हुआ। टूनार्मेंट में सर्वाधिक 13 विकेट लेने वाले हसन अली को मैन आफ द टूनार्मेंट चुना गया। वहीं इस टूनार्मेंट के पांच मैचों में 338 रन बनाने भारतीय बल्लेबाज शिखर धवन को गोल्डन बैट का पुरस्कार मिला। धवन चैम्पियंस ट्रॉफी के पिछले संस्करण, 2013 में भी यह पुरस्कार जीत चुके हैं।

वर्ल्ड लीग सेमीफाइनल्स में भारत ने पाकिस्तान को 7-1 से हराया
हरमनप्रीत सिंह, तलविंदर सिंह और आकाशदीप सिंह के दो-दो गोलों की मदद से भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने रविवार को वर्ल्ड लीग सेमीफाइनल्स के अपने तीसरे पूल मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 7-1 से मात दी। इस जीत के साथ ही भारत ने क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है। हरमनप्रीत ने (13वें और 33वें), तलविंदर (21वें और 24वें) तथा आकाशदीप (47वें और 59वें) मिनट में गोल किए। प्रदीप मोर ने भी 49वें मिनट में गोल किया। भारत की यह लगातार तीसरी जीत है और उसका सामना 2० जून को नीदरलैंड से होगा। दूसरी ओर, पाकिस्तान की यह लगातार तीसरी हार है।
दूसरे मिनट में पाकिस्तान के पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल के अवसर को नाकाम करते हुए भारत ने 13वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल कर अपना खाता खोला। टीम के लिए यह गोल हरमनप्रीत ने किया। इसके बाद 21वें मिनट में तलविंदर सिंह ने फील्ड गोल दागकर भारतीय टीम को पाकिस्तान पर 2-0 से बढ़त दिलाई। इस बीच, मनदीप सिंह को ग्रीन कार्ड दिखाया गया।

पाकिस्तान की सभी कोशिशों को नाकाम करते हुए 24वें मिनट में तलविंदर ने एक बार फिर आगे बढ़कर फील्ड गोल दागा। इस गोल के दम पर भारत ने 3-0 की बढ़त बनाई। तीसरे क्वार्टर की शुरूआत के बाद दूसरे ही मिनट में चिंग्लेसाना सिंह ने भारत के लिए पेनाल्टी कॉर्नर हासिल किया और 33वें मिनट में हरमनप्रीत ने इस अवसर को गोल में तब्दील कर भारतीय टीम को 4-0 से आगे किया।

सरदार सिंह से मिले पास को 47वें मिनट में आकाशदीप सिंह ने सफल रूप से पाकिस्तान के खेमे में डाला और स्कोर 5-0 किया। दो मिनट बाद प्रदीप मोर (49वें मिनट) ने टीम के लिए छठा गोल किया। पाकिस्तान के लिए 57वें मिनट में मुहम्मद उमर बुट्टा ने पेनाल्टी कॉर्नर की बदौलत एकमात्र गोल किया। इसके एक मिनट बाद ही आकाशदीप ने भारत के लिए सातवां गोल किया और इस प्रकार भारतीय टीम ने पाकिस्तान पर 7-1 से जीत दर्ज की।

Related News

Latest Tweets