भाजपा और कांग्रेस विधायकों के हंगामे के चलते विधानसभा की कार्यवाही हुई स्थगित

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 289

Bhopal: 24 जुलाई 2017। मध्य प्रदेश विधानसभा में मानसून सत्र के छठे दिन सोमवार को कांग्रेस और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायकों में तीखी नोकझोक हुई और दोनों पक्षों ने जमकर हंगामा किया. इसके चलते विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीता शरण शर्मा ने कार्यवाही अपराह्न् तीन बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस की ओर से विधायक सुंदरलाल तिवारी ने प्रश्नोत्तरी में नरोत्तम मिश्रा का नाम होने पर सवाल उठाया. उनका कहना था कि जो व्यक्ति सदन का सदस्य ही नहीं है, उसका नाम प्रश्नोत्तरी में कैसे है. तिवारी के बोलने के दौरान ही भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने अशोकनगर के ट्रॉमा सेंटर का दलित विधायक द्वारा उद्घाटन किए जाने के बाद सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के उद्घाटन से पहले गंगाजल से शुद्घीकरण कराए जाने को दलितों का अपमान बताया. इस पर हंगामा बढ़ गया, और विधानसभाध्यक्ष डॉ. शर्मा ने कार्यवाही अपराह्न् तीन बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

राज्य के सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री लाल सिंह आर्य ने कहा, "ट्रामा सेंटर को दलित विधायक गोपीलाल जाटव के उद्घाटन के बाद गंगाजल से धुलवाना सिर्फ विधायक का नहीं, बल्कि दलितों का अपमान है."

वहीं नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा, "भाजपा झूठ बोल रही है कि ट्रॉमा सेंटर को गंगाजल से धुलवाया गया है. सिंधिया ने ट्रॉमा का उद्घाटन किया तो उन्होंने पट्टिका पर विधायक का भी नाम लिखवाया. जिस व्यक्ति ने टिप्पणी की थी, उस पर कांग्रेस कार्रवाई कर चुकी है."

ज्ञात हो कि राज्य के जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा को चुनाव आयोग तीन साल के लिए चुनाव लड़ने से अयोग्य घोषित कर चुका है, साथ ही वह राष्ट्रपति चुनाव में मतदान भी नहीं कर सके. इस लिहाज से वह विधायक भी नहीं हैं. इसी कारण कांग्रेस विधायक ने पुस्तिका में मिश्रा का नाम बतौर जल संसाधन मंत्री दर्ज होने पर आपत्ति जताई.

















Related News

Latest Tweets