टीएनसीपी और नगरीय निकायों में होगी अब इन्टर्नशिप

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: Admin                                                                         Views: 253

Bhopal: राज्य सरकार ने पहली बार जारी की गाईड लाईन
23 जुलाई 2018। टाउन एण्ड कन्ट्री प्लानिंग, राज्य नगर नियोजन संस्थान, नगरीय निकायों तथा नगरीय विकास एवं आवास विभाग की अन्य एजेन्सियों में अब विश्वविद्यालयों एवं कालेजों के अण्डर गेज्युएट, पोस्ट ग्रेज्युएट और रिसर्च फैलो/पीएचडी शोधकत्र्ता इंटर्नशिप कर सकेंगे। इसके लिये राज्य सरकार ने पहली बार गाईड लाईन जारी की है। इसका उद्देश्य प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों जैसे आईआईटी/एनआईटी आदि से पारस्परिक लाभ के लिये विभागीय कार्यों से जु ड़े होने के लिये युवा प्रतिभाओं को अनुमति देना है।

नवीन गाईड लाईन के अनुसार, संचालक टाउन एण्ड कन्ट्री प्लानिंग द्वारा प्लानिंग संकाय वाले मान्यता प्राप्त संस्थानों को सूचीबध्द करेगा और इंटर्नशिप स्लाट्स की कुल उपलब्धता जारी करेगा। इंटर्नशिप की अवधि कम से कम 40 दिन और अधिक से अधिक छह माह तक की अवधि की होगी। दो माह के लिये इंटर्नशिप में स्टायपेंड अण्डर गेज्युएट को 8 हजार रुपये, पोस्ट ग्रेज्युएट को 10 हजार रुपये तथा रिसर्च फैलो/पीएचडी शोधकत्र्ता को 15 हजार रुपये समेकित अनुदान के रुप में दिया जायेगा। यदि इंटर्नशिप आगे भी जारी रहती है तो बाकी अवधि के लिये क्रमश: 4 हजार रुपये, 5 हजार रुपये तथा 7 हजार रुपये प्रति माह दिया जायेगा।

नवीन गाईड लाईन में कहा गया है कि इंटर्न को कार्यस्थान पर इंटरनेट की सुविधा दी जायेगी परन्तु उसके पास अपना स्वयं का लैपटाप होना आवश्यक होगा। इंटर्न पर इस बात का प्रतिबंध रहेगा कि वह किसी प्रिंट,इलेक्ट्रानिक इत्यादि मीडिया से बातचीत करे। गाईड लाईन में यह भी स्पष्ट किया गया है कि इंटर्नशिप के लिये प्रस्ताव न तो रोजगार प्रस्ताव है और न ही टाउन एण्ड कन्ट्री प्लानिंग डायरेक्टोरेट के साथ रोजगार का आश्वासन है। इंटर्नशिप पूरी करने के बाद डायरेक्टोरेट द्वारा इंटर्न को प्रमाण-पत्र जारी किया जायेगा।

इन विषयों पर होगी इंटर्नशिप :
लैंडस्केप आर्किटेक्चर, नगरीय डिजाईन, विरासत संरक्षण, नगर नियोजन, इन्फ्रास्ट्रक्चर नियोजन, ट्रांसपोर्टेशन नियोजन, हाउसिंग, एनवायरमेंटल नियोजन, भौगोलिक सूचना प्रणाली आदि सहित वास्तुकला और नगर नियोजन। इसके अलावा अनुसंधान के अंतर्गत नगरीय गरीबी, आवास, अर्थशास्त्र, समाजशास्त्र, भूगोल, पर्यावरण, नगरीय प्रशासन आदि।

विभागीय अधिकारी ने बताया कि राज्य शासन ने इंटर्नशिप की नई गाईड लाईन अनुमोदित कर दी है। हम लोग प्लानिंग वाले शैक्षणिक संस्थानों में इसके लिये सम्पर्क कर रहे हैं। इसी शैक्षणिक सत्र से इसे प्रारंभ कर दिया जायेगा।

- डॉ. नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets