विशेष आवश्यक्ता वाले बच्चों के लिये 21 जिलों में 5 जनवरी तक लगेंगे शिविर

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: Digital Desk                                                                         Views: 114

Bhopal: 7 दिसंबर 2018। सीडब्ल्युएसएन यानि चिल्ड्रन विथ स्पेशल नीड्स अर्थात विशेष आवश्यक्ता वाले 6 से 14 वर्ष तक के बच्चों जोकि दिव्यांग होते हैं, को कृत्रिम अंग वितरित करने हेतु 4 दिसम्बर 2018 से 21 जिलों में चिकित्सा मूल्यांकन शिविर प्रारंभ हो गये हैं तथा ये शिविर 5 जनवरी 2019 तक लगेंगे। राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल ने इस संबंध में इन सभी 21 जिलों के कलेक्टरों को आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश जारी किये हैं।

दरअसल भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इस संबंध में ये शिविर आयोजित करने के लिये राज्य सरकार से कहा है। जबलपुर स्थित भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम-एलमिको स्थानीय चिकित्सा विशेषज्ञों के सहयोग से ये शिविर आयोजित करेगा। इन शिविरों में समस्त शासकीय एवं शासकीय अनुदान प्राप्त विद्यालयों के सीडब्ल्युएसएन बच्चे सम्मिलित होंगे तथा ऐसे सीडब्ल्युएसएन बच्चे भी इन शिविरों में शामिल हो सकेंगे जिन्हें कृत्रिम अंग उपकरण मिलने के बाद स्कूल में प्रवेश दिया जा सकता है।
शिविरों में चार चिकित्सा विशेषज्ञों को तैनात किया जायेगा जिनमें अस्थि रोग, ईएनटी, नेत्र रोग एवं मनोचिकित्सक विशेषज्ञ होगा। इन शिविरों में नि:शक्तता प्रमाण-पत्र व पहचान पत्र भी बनवायें जायेंगे। 150 रुपये प्रति सीडब्ल्युएसएन बच्चे के हिसाब से राशि दी जायेगी।
ये हैं 21 जिले : सिंगरौली, सीधी, रीवा, सतना, कटनी, जबलपुर, बालाघाट, अनूपपुर, छतरपुर, दमोह, सागर, रायसेन, राजगढ़,
भिण्ड, ग्वालियर, शिवपुरी, उज्जैन, धार, खण्डवा, बैतूल तथा सिवनी।

15 हजार मासिक आय का बंधन :
इन शिविरों में आने वाले सीडब्ल्युएसएन बच्चों को तभी नि:शुल्क कृत्रिम अंग प्राप्त करने की पात्रता होगी जिनके अभिभावकों की मासिक आय 15 हजार रुपये या उससे कम है। इससे अधिक आय होने पर उपकरण नि:शुल्क नहीं दिये जायेंगे। शिविर में उन बच्चों को भी उपकरण दिये जा सकेंगे जिन्हें पहले उपकरण मिल चुके हैं परन्तु अब वे खराब हो गये हैं।
विभागीय अधिकारी ने बताया कि सीडब्ल्युएसएन बच्चों के लिये 21 जिलों में शिविर लगाये जायेंगे। इनमें ऐसे बच्चों की जांच होगी और उपकरण स्वीकृत किये जायेंगे। उपकरणों के वितरण हेतु अलग तिथि जारी की जायेगी।

Related News

Latest Tweets