एआईसी-आरएनटीयू का आई-4 समिट: पिचिंग कॉम्पिटीशन में 'जवाब दो' ने सुलझा दिए एक्सपर्ट्स के सारे सवाल

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 571

Bhopal: 1 ​सितंबर 2019। बेहतर और इनोवेटिस आइडियाज़ वाले नए स्टार्टअप्स को मौका देने के लिए एआईसी-आरएनटीयू के तत्वाधान में पिचिंग कॉम्पिटीशन का आयोजन किया गया। इस दो दिवसीय आयोजन में नए स्टार्टअप्स ने अलग अलग पिचिंग सेशन्स में एक्सपर्ट्स को सुना और उनके सामने अपने बिजनेस प्रोजेक्ट और स्टार्टअप्स के आइडियाज़ को प्रस्तुत भी किया। इस कॉम्पिटीशन में फाइनल के लिए 200 में से 20 टॉप स्टार्टअप्स को चुना गया था। फाइनल्स में पहले स्थान पर 'जवाब दो' ने जगह बनाई, यह एक ऑनलाइन लॉ सॉल्यूशन वाला सर्विस स्टार्टअप है। कॉम्पटीशन में तीन रनरअप्स को भी चुना गया है। फर्स्ट रनरअप 'व्हाइट मैगनेट्स'(चारकोल टूथपेस्ट), सेकेंड रनरअप 'वायर' (बी-नेटवर्किंग), थर्ड रनरअप 'टीटोटा' (बी-नेटवर्किंग) रहे।



कॉम्पिटीशन में अपने सेशन के दौरान रविंद्र नाथ टैगोर यूनिवर्सिटी के चांसलर श्री संतोष चौबे ने प्रतिस्पर्धा में भाग लेने वाले स्टार्टअप्स को संबोधित करते हुए कहा कि यदि आपको पास एक इनोवेटिव आइडिया है, आपको लगता है कि आपके एक फुलप्रूफ बिजनेस मॉडल है, लेकिन आपको ये नहीं पता है कि इसे किसके सामने और कैसे प्रेज़ेंट तो यह इस आइडिया की सबसे बड़ी कमी होती है। उन्होंने बताया कि इस तरह के आयोजनों से न सिर्फ नए स्टार्टअप्स के आइडियाज़ के बेसिक इश्यूज़ क्लियर होते हैं, बल्कि उनके आइडियाज़ यदि डिफरेंट हैं तो उन्हें इनके लिए एक बेहतर प्लेटफॉर्म भी मिलता है। उन्होंने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी स्टार्टअप्स की तारीफ भी की।



वहीं एआईसी-आरएनटीयू के सीईओ रोनाल्ड फर्नांडीज़ ने बताया कि हमने पिछले एक महीने में 4 शहरों में जाकर स्टार्टअप्स को सुना। इस प्रतियोगिता में प्रतिभागियों को चुनने के लिए मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल समेत इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर के 200 से ज्यादा स्टार्टअप्स को सुना गया और इनमें से 20 स्टार्टअप्स को फाइनल के लिए चुना गया। आखिरी के दो दिनों में इन्हीं 20 स्टार्टअप्स से पिचिंग सेशन्स के दौरान उनके आइडियाज़ सुने गए और ज्यूरी ने बेहतर आइडिया वाले सर्विस और प्रोडक्ट दोनों ही तरह के स्टार्टअप्स को सिलेक्ट किया।



इस आयोजन के अलग अलग सेशन्स में एक्सपर्ट्स ने अपने विचार भी साझा किए। स्टार्टअप इंडिया फाउंडेशन के चेयरमेन अनिल चिक्कारा ने कहा कि स्टार्टअप्स के लिए सिर्फ एक बेहतर आइडिया के अलावा जरूरी हो गया है एक अनुभवी मार्गदर्शन और बेहतर प्लानिंग। स्टूमैग के सीईओ चरन लक्काराजू, ने बताया कि किसी भी स्टार्टअप को शुरू करने के बाद शुरुआती सालों में दिक्कतें आ सकती हैं, लेकिन इससे निपटने के लिए तैयार रहना होगा। ये सब करने के साथ ही आपको मजबूत टीम की जरूरत होगी। इसके अलावा ऊबर के मार्केटिंग मैनेजर वैभव सिसिंटी, अप्वाइंटी के फाउंडर और सीईओ नेमेश सिंह और इंजीनियर बाबू की सीईओ और को-फाउंडर अदिति चौरसिया ने भी इंटरप्रेन्योरशिप और उससे जुड़ी तमाम छोटी बड़ी बातों पर अपने विचार रखे और आयोजन में शामिल हुए प्रतिभागियों के सवालों का जवाब भी दिया। वहीं पैनल डिस्कशन में यूनिटस कैपिटल के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर विकास सारदा, सक्सीड वेंचर के कोफाउंडर और मैनेजिंग पार्टनर विक्रांत वार्ष्णेय, एपेक्स ग्रुप के सुभाशीष घोष, यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर्स के कुमार स्पर्श, भूषण वी. गजारिया उपस्थित रहे।

Related News

Latest Tweets