"कौन सा परफ्यूम लगाती हो, दीवाना कर देती हो " कहना अफसर को भारी पड़ा

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 828

Bhopal: मध्यप्रदेश में कार्यस्थल पर यौन प्रताड़ना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं, इन पर विराम नहीं लग पा रहा है । इसी बीच बड़ी खबर मिली है कि यौन प्रताड़ना और कार्यस्थल पर छेड़छाड़ के एक बहुचर्चित मामले में रायसेन की प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश ने दो अधिकारियों की पुनरीक्षण याचिका को खारिज करते हुए उनके विरूद्ध मामला चलाने का आदेश दे दिया है।


- न्यायालय ने ठुकराई पुनरीक्षण याचिका, राकेश गौतम पर चलेगा यौन प्रताड़ना का मामला
- आई.पी.एस. जीजा के.एन. तिवारी की चालाकी काम नहीं आई


यहाँ यह उल्लेखनीय है कि कोतवाली रायसेन पुलिस ने दिनांक 27.05.2013 को जिला पंचायत कार्यालय रायसेन में पदस्थ तत्कालीन मुख्य कार्यपालन अधिकारी राकेश गौतम एवं साथी अजीत श्रीवास्तव के विरूद्ध महिला कर्मचारी सलमा (परिवर्तित नाम) की शिकायत के आधार पर कोई कार्यवाही नहीं की थी। पीड़िता द्वारा कोर्ट में आवेदन देने पर कोर्ट के आदेश पर आरोपियों पर धारा 354ए, 354डी, 506 भाग-2 भा.दं.वि. के अन्तर्गत अपराध क्र. 563/13 दर्ज हुआ था, किन्तु जाँच में प्रकरण को कमजोर बताते हुए खारिजी भेज दी थी । जाँच निरीक्षक प्रतीक्षा शर्मा, निरीक्षक जगदीश सिंह सिद्धू तथा उपनिरीक्षक तरूणा भारद्वाज ने पुलिस मुख्यालय में पदस्थ के.एन. तिवारी जो राकेश गौतम के जीजा हैं, के दबाव में मामले में दिनांक 28.05.2015 को खारिजी लगा दी थी। पीड़ित महिला ने फिर न्यायालय की शरण ली और अपने बयान में कहा कि अधिकारी ने मुझे "तुम कौन सा परफ्यूम लगाती हो, जिसकी खुशबू मुझे दीवाना कर देती है, तुम्हारे होंठो पर जो तिल है उसमें तुम सेक्सी नज़र आती हो" कहकर हाथ पकड़ा था।

गौरतलब है कि राकेश गौतम वर्तमान में उपसंचालक, जल ग्रहण मिशन विकास आयुक्त विंध्याचल भवन भोपाल में पदस्थ हैं तथा पहले से ही दोनों आरोपी अग्रिम जमानत पर हैं अब देखना यह है कि यह निलंबित कब होते हैं और इनके जीजा के.एन. तिवारी जो वर्तमान में ए.डी.जी. (एस.ए.एफ.) हैं, वे इनके लिये कौन सा दाव खेलते हैं?


- ( डॉ. नवीन जोशी )

Related News

Latest Tweets