उड़ी में फिर हुआ सीजफायर का उल्लंघन, भारतीय सेना ने मार गिराये 10 आतंकी

Location: नई दिल्ली                                                 👤Posted By: Digital Desk                                                                         Views: 17401

नई दिल्ली: पाकिस्तान के दोतरफा हमले का भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा. मंगलवार को सीजफायर उल्लंघन की आड़ में सीमा पार से आतंकियों की घुसपैठ की पाकिस्तान की ओर से नई साजिश हुई. हालांकि, मुस्तैद सेना के जवानों ने इस कोशिश को विफल कर दिया. इंडियन आर्मी की ओर से जवाबी कार्रवाई की गई. इस कार्रवाई में 10 आतंकी मारे गए. मुठभेड़ अभी भी जारी है. सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके में निगरानी तेज कर दी है. दूसरी ओर, हंदवाड़ा में भी सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही है. इस मुठभेड़ में एक जवान शहीद हो गया. सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है. ऑपरेशन अभी जारी है.



सीमापार से शुरू हुई गोलीबारी

इससे पहले खबर आई थी कि उरी में सेना मुख्यालय पर रविवार को आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान की सेना ने सीजफायर का उल्लंघन किया है. उरी सेक्टर में एलओसी के निकट मंगलवार दोपहर बाद शुरू हुई, जिस पर भारतीय खेमे से भी जवाबी कार्रवाई की गई. उरी में घुसपैठ की ये कोशिश दो अलग-अलग जगहों पर लाच्छीपुरा और माहिया बोनियार में की गई. घुसपैठ की कोशिश कर रहे 10 आतंकी तो सेना की कार्रवाई में मारे गए. हालांकि, इस दौरान 5 आतंकवादी वापस पाकिस्तान की ओर भागने में कामयाब रहे. घुसपैठ की कोशिश कर रहे इन आतंकवादियों की मदद के लिये पाकिस्तानी सेना लगातार गोलीबारी कर रही है.



हंदवाड़ा में 4-5 आतंकियों से एनकाउंटर जारी

उरी के अलावा हंदवाड़ा जिले के नौगाम में भी सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है. इस एनकाउंटर में सेना का एक जवान शहीद हो गया है. एक और जवान घायल है. यहां 4-5 आतंकियों के साथ मुठभेड़ चल रही है.



घुसपैठ की ताक में और आतंकी

पिछले कई दिनों से खुफिया इनपुट है कि सीमा पर 70 आतंकवादी पांच से छह छोटे-छोटे समूहों में लगातार घुसपैठ की कोशिशें कर रहे हैं. सोमवार को सेना डीजीएमओ ले. जनरल रणबीर सिंह ने बताया था कि इस साल अब तक जम्मू कश्मीर में 110 आतंकियों को सेना ने ढेर किया.





रविवार को उरी कैंप पर हुआ था आतंकी हमला

बता दें कि दो दिन पहले ही उरी में सेना के कैंप में पाकिस्तान से आए चार आतंकियों ने हमला किया था. इस हमले में 22 जवान घायल हो गए, जबकि 18 जवान शहीद हो गए थे.



NIA ने शुरू की जांच

रविवार सुबह पाकिस्तान से आए 4 आतंकियों ने उरी में सेना के कैंप पर हमले को अंजाम दिया था. एनआईए ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी के अधि‍कारियों ने मारे गए चारों आतंकियों के फिंगर प्रिंट और खून के सैंपल जमा किए हैं. इसके साथ ही सेना दशतगर्दों से बरामद हथियार और सामान भी एनआईए के सुपुर्द करेगी. एनआईए ने एफाआईआर दर्ज कर लिया है.



रक्षा मंत्री ने मांगी रिपोर्ट

इस बीच, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने उरी में सेना के कैंप पर आतंकी हमले को लेकर आर्मी से रिपोर्ट मांगी है. सूत्रों के अनुसार रक्षा मंत्री ने पूछा है कि सुरक्षा के क्या बंदोबस्त थे और अतिसुरक्षित बटालियन हेडक्वार्टर तक पहुंचने में आतंकी कैसे कामयाब रहे. हालांकि, सेना ने प्रारंभिक रिपोर्ट सौंपी है लेकिन इस बारे में विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है कि खुफिया इनपुट के बावजूद कैसे आतंकी बैस कैंप तक पहुंचने में कामयाब रहे और अति सुरक्षित ठिकानों को खतरा पैदा हुआ. इसके अलावा आतंकियों द्वारा टेंट को ग्रेनेड हमले का निशाना बनाने और उसमें जवानों के हताहत होने से जुड़े सवालों के जवाब भी सेना को देने होंगे.



अमेरिका की PAK को दो टूक

उरी में आतंकी हमले को लेकर पाकिस्तान को विश्व समुदाय ने भी घेरना शुरू कर दिया है. रूस ने जहां पाकिस्तान के साथ साझा सैन्य अभ्यास से इंकार कर दिया है वहीं अमेरिका ने साफ तौर कहा है कि पाकिस्तान आतंकियों को अपने यहां पनाह लेने से रोके. न्यूयॉर्क में नवाज शरीफ से मुलाकात में अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने उरी हमले का मुद्दा उठाया और कहा कि पाकिस्तान अपनी जमीन को आतंकियों के लिए सेफ हेवेन बनने से रोके. केरी ने पाकिस्तान को परमाणु बमों को लेकर बयानबाजी से भी बचने की सलाह दी.



पीएम ने बुलाई CCS की बैठक

उरी में आतंकी हमले को लेकर देश में पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग तेज होती जा रही है. सरकार ने भी कहा है कि पूरी प्लानिंग के साथ कार्रवाई की जाएगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उरी हमले के बाद उत्पन्न स्थिति पर चर्चा के लिए बुधवार को सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक बुलाई है.

Related News

Latest Tweets