दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव : AVBP का तीन पदों पर कब्जा, 1 पर NSUI जीती

Location: नई दिल्ली                                                 👤Posted By: Radhika                                                                         Views: 17251

नई दिल्ली: दिल्ली यूनिवर्सिटी (DUSU) चुनाव के नतीजे आ गए हैं। पिछले साल की तरह ही इस बार भी AVBP को जीत हासिल हुई है हालांकि इस बार वह क्लीन स्वीप नहीं कर पाई। वहीं इस बार NSUI को सफलता हाथ लगी और वह एक सीट जीतने में कामयाब रही। दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ के साथ ही जेएनयू छात्रसंघ चुुनाव के लिए भी शुक्रवार को ही वोटिंग हुई जिसके रिजल्ट रविवार तक आने की उम्मीद है।क्लीन स्विप से चूकी AVBP...

DUSUचुनाव के नतीजे

अमित तंवर, ABVP, अध्यक्ष

प्रियंका, ABVP, उपाध्यक्ष

अंकित सिंह सांगवान, ABVP, सचिव

मोहित गरिड, NSUI, संयुक्त सचिव



इस साल कम हुई वोटिंग

-शुक्रवार को हुई वोटिंग में पिछले साल की तुलना में 7% से ज्यादा की कमी देखी गई।

-दिल्ली यूनीवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन (DUSU) चुनाव में शुक्रवार को 36 % से ज्यादा स्टूडेंट्स ने वोटिंग की।

-पिछले साल के मुकाबले में इसमें 7% से ज्यादा की कमी दर्ज की गयी है। पिछले साल 43.3 %वोटिंग हुई थी।

कॉलेजों के छात्र परिषद चुनाव में NSUI रही आगे



-इस बीच 44 कॉलेजों में छात्र परिषद चुनाव भी हुए जहां NSUI ने 33 कॉलेजों में चुनाव जीता, जबकि 11 कॉलेजों में AVBP हासिल की।

-चुनाव में AVBP, आईसा और NSUI के 17 उम्मीदवारों में के बीच मुकाबला था।

-जेएनयू चुनाव की तरह ही इस बार डूसू चुनाव में भी राष्ट्रवाद बनाम राष्ट्रद्रोह का ही मुद्दा छाया रहा।



JNUचुनाव पर सबकी नजर

-जेएनयू में इस पूरे साल चर्चा का केंद्र रहा है।

-9 फरवरी को जेएनयू में हुए एक कार्यक्रम के बाद से यह यूनिवर्सिटी लगातार खबरों में बनी हुई है।

-9 फरवरी के इस कार्यक्रम में कथित रूप से देश विरोधी नारे लगाए गए थे और जेएनयू के छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार और दो अन्य को गिरफ्तार किया गया था।

-इस घटना के बाद राष्ट्रवाद बनाम देशद्रोह का मुद्दा केंद्र में आ गया।

-जेएनयू छात्र संघ चुनाव इस बार इसी मुद्दे के इर्द-गिर्द लड़ा गया।

-चीफ इलेक्शन कमिशनर इशिता मन्ना के मुताबिक इस चुनाव में कुल 5,181 वोट पड़े। ये पिछले तीन साल में सबसे ज्यादा वोटिंग टर्नआउट (लगभग 60 प्रतिशत) है।

- जेएनयू में सेंट्रल पैनल के लिए कुल 18 उम्मीदवार मैदान में हैं जहां मतदाताओं की संख्या करीब 8600 है। वहीं 79 उम्मीदवार यूनिवर्सिटी के विभिन्न केंद्रों में काउंसलर पदों के लिए मैदान में हैं।

Tags
Share

Related News

Latest Tweets