दुर्गामती निश्चित तौर पर शारीरिक रूप से मेरी अब तक की सबसे अधिक चुनौतीपूर्ण फिल्म थी! : भूमि पेडणेकर

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 2026

Bhopal: प्रतिभाशाली युवा बॉलीवुड स्टार, भूमि पेडणेकर, जल्दी ही रहस्यमय थ्रिलर दुर्गामती में दिखेंगी। वह स्वीकार करती हैं कि यह फिल्म उनके लिए शारीरिक तौर पर एक चुनौतीपूर्ण प्रोजेक्ट था। ट्रेलर से जाहिर होता है कि भूमि ने फिल्म में दो किरदार निभाए हैं ? एक चंचल चौहान का और दूसरा एक आत्मा दुर्गामती जिसने उन्हें वश में कर लिया है। भूमि का दावा है कि दुर्गामती का किरदार निभाना शारीरिक रूप से कठिन था।

भूमि कहती हैं, "दुर्गामती ने वास्तव में मुझे एक कलाकार के रूप में विस्तार दिया है। जॉनर और फिल्म में मेरे किरदार की वजह से यह फिल्म शारीरिक तौर पर एक कठिन फिल्म थी। मेरे लिए, दुर्गामती निश्चित रूप से मेरी अब तक की शारीरिक रूप से सबसे चुनौतीपूर्ण फिल्म थी और मैने इसके हर एक पल का लुत्फ लिया।" फिल्म के ट्रेलर में चंचल के दुर्गामती बनने पर वह बहुत हिंसक भूमिका में देखी जा सकती हैं।

भूमि कहती हैं कि एक कलाकार के तौर पर हॉरर जॉनर को अच्छी तरह से निभाना निश्चित रूप से उनके अभिनय की विश लिस्ट में शामिल था। फिल्म को लेकर सुर्खियाँ बटोर रहीं, बैक टू बैक सफलता के घोड़े पर सवार भूमि कहती हैं "एक एक्टर के तौर पर, मैं हर तरह की हर तरह की फिल्में करना चाहती हूँ और हॉरर थ्रिलर करना निश्चित रूप से मेरी सूची में सबसे ऊपर था। मैं यह देखना चाहती थी कि क्या मैं हॉरर भूमिका अच्छी तरह से कर सकती हूँ, और मुझे लगता है कि मैंने खुद को आश्चर्यचकित किया है। हालाँकि दर्शकों की तरफ से मिलने वाले रिव्यू से ही इसकी पुष्टि हो सकती है और मैं उनकी प्रतिक्रिया का बेसब्री से इंतजार कर रही हूँ। मैं इतना कह सकती हूँ कि मैंने अभिनय की अपनी विश लिस्ट से इस जॉनर में हाथ आजमा लिया है। मुझे इस फिल्म और इसमें अपने काम पर बहुत गर्व है।

अपने दमदार परफॉर्मेंस की वजह से दर्शकों को सिनेमाघरों तक खींचने की क्षमता रखने वाली व निर्माताओं की पसंदीदा बन चुकीं और वर्सेटाइल अभिनेती बताती हैं कि हॉरर जॉनर दूसरे जॉनर की तुलना में अविश्वसनीय रूप से क्यों कठिन है।

भूमि कहती हैं, "ईमानदारी से कहूं तो यह जॉनर किसी भी कलाकार के लिए बहुत चुनौतीपूर्ण होता है क्योंकि आपको परत दर परत किरदार को गढ़ना होता है। या तो आप दर्शकों को बेहद पसंद आएंगे या फिर आप असफल होंगे क्योंकि आप किरदार से जुड़ नहीं पाए। ऐसी फिल्मों में हॉरर और डर को सिर्फ बेहतरीन अभिनय से ही जीवंत किया जा सकता है और आपको इन एलिमेंट्स को अपनी एक्टिंग से सामने लाना होता है कि आप दर्शकों से किस तरह फिजिकली कम्युनिकेट करते हैं - इसलिए ये आसान नहीं है।"

Related News

Latest Tweets