प्रदेश में आठ नये मनोरंजन एवं वन्यप्राणी अनुभव क्षेत्र घोषित

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 266

Bhopal: 5 नवंबर 2020। राज्य सरकार ने वन पर्यटकों के लिये आरक्षित वनों में आठ नये मनोरंजन एवं वन्यप्राणी अनुभव क्षेत्र घोषित किये हैं। अब इन क्षेत्रों में पर्यटकों से शुल्क लेकर भ्रमण कराया जायेगा।
मनोरंजन क्षेत्रों के अंतर्गत सात नये स्थल हैं : भोपाल वनमंडल के समर्धा परिक्षेत्र में 450 हैक्टेयर में समर्धा जंगल कैम्प, कटनी वनमंडल के बड़वारा परिक्षेत्र में 54 हैक्टेयर में झिरिया, पेंच टाईगर रिजर्व सिवनी वनमंडल के रुखड़ परिक्षेत्र में 1.80 हैक्टेयर में बायसन और 60 हैक्टेयर में दुधिया तालाब क्षेत्र तथा घाटकोहका परिक्षेत्र में 0.0929 हैक्टेयर में सामुदायिक सांस्कृतिक एवं प्रशिक्षण केंद्र कर्माझिरी, दक्षिण शहडोल वनमंडल में गोहापारु परिक्षेत्र में 0.801 हैक्टेयर में सीतामढ़ी एवं 1 हैक्टेयर में जलहरी शिवमंदिर।
इसी प्रकार, वन्यप्राणी अनुभव क्षेत्र के अंतर्गत दमोह वनमंडल के हटा परिक्षेत्र में 5.20 हैक्टेयर में झारखण्डी नया क्षेत्र बनाया गया है। ये आठों क्षेत्र वर्ष 2016 में वन विभाग द्वारा जारी मप्र वन मनोरंजन एवं वन्यप्राणी अनुभव नियम के तहत घोषित किये गये हैं। अब मनोरंजन क्षेत्र में कैंपिंग, ट्रेकिंग, हाईकिंग, बोटिंग, फोटोग्राफी, जिप-लाइनिंग, प्रकृति पथ, बर्ड वाचिंग, सफारी, साइकिलिंग, पिकनिक, वाटर कूंज गतिविधियां हो सकेंगी। वन्यप्राणी अनुभव क्षेत्र में वन्य प्राणियों की गतिविधियों को वनों में उनके प्राकृतिक रहवास में अवलोकन के जरिये महसूस किया जा सकेगा।
मनोरंजन क्षेत्रों में पैदल या सायकल से भ्रमण, दो पहिया वाहन से भ्रमण, हल्के मोटरयान तथा बस से भ्रमण की सुविधा भी रहती है जबकि वन्यप्राणी अनुभव क्षेत्र में सिर्फ हल्के मोटरयान से ही भ्रमण की सुविधा रहती है। संभागीय वन अधिकारी या उनके द्वारा अधिकृत अधिकारी इस भ्रमण की अनुज्ञा प्रदान करेंगे और बदले में निर्धारित शुल्क भी वसूल करेंगे। वन्यप्राणी अनुभव क्षेत्र में 16 जून से 30 सितम्बर तक की अवधि भ्रमण हेतु प्रतिबंधित रहेगी।


- डॉ. नवीन जोशी/PNI

Related News

Latest Tweets