×

सरकारी राशि गबन! 17 आरोपितों पर केस दर्ज, 2.5 करोड़ से ज्यादा का चूना लगाया

prativad news photo, top news photo, प्रतिवाद
Location: भोपाल                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 1772

भोपाल: 10 फरवरी 2024। मध्य प्रदेश, खंडवा: मांधाता पुलिस थाना क्षेत्र में एक बड़ा सरकारी धन गबन का मामला सामने आया है। शासकीय राशि में गड़बड़ी कर सरकार को 2.5 करोड़ से अधिक का चूना लगाने वाले 17 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इनमें बिल क्रिएटर और कंप्यूटर ऑपरेटर भी शामिल हैं।

वर्ष 2018-19 से 2023-24 तक कपटपूर्ण भुगतानों की जांच की गई। इसमें उक्त गबन का पर्दाफाश हुआ। जांच में सामने आया कि बिल क्रिएटर और कंप्यूटर आपरेटर ने राशि का गबन कर अपने रिश्तेदारों के खाते में डाली। विभागीय कार्रवाई पूरी होने के बाद खंडवा जिला कोषालय अधिकारी, जिला खरगोन द्वारा समस्त 17 बैंक खातों को फ्रीज करने के पश्चात गबन की राशि में से 52 लाख रुपये के चालान संबंधितों के द्वारा शासन मद में जमा किए गए हैं।

पूरा मामला:
मामला नर्मदा विकास संभाग क्रमांक 21, सनावद, जिला खरगोन के कार्यालय का है।
वर्ष 2018-19 से 2023-24 के बीच कपटपूर्ण भुगतानों की जांच की गई।
जांच में सामने आया कि बिल क्रिएटर अखिलेश मंडलोई और कंप्यूटर ऑपरेटर प्रितेश राठौड़ ने मिलकर राशि का गबन किया।
उन्होंने सरकारी पैसा अपने और अपने रिश्तेदारों के खातों में जमा कर दिया।
मामले का खुलासा होने के बाद मंडलोई को निलंबित और राठौड़ को सेवा से पृथक कर दिया गया।
विभागीय कार्रवाई के बाद अब तक 52 लाख रुपये जमा किए गए हैं।

एफआईआर में शामिल नाम:
अखिलेश मंडलोई (बिल क्रिएटर)
प्रितेश राठौड़ (कंप्यूटर ऑपरेटर)
अनिमिता तिवारी
अनिकेत तिवारी
लखनसिंह मंडलोई
राखी डोडवा
(अन्य 11 नाम)

आरोप:
भारतीय दंड संहिता की धारा 34 (आपराधिक साजिश), 409 (आपराधिक विश्वासघात) और 420 (धोखाधड़ी) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

गंभीर मामला:
यह घटना सरकारी धन के दुरुपयोग का एक गंभीर मामला है। पुलिस द्वारा आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। साथ ही भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सख्त उपायों की आवश्यकता है।

यह एफआईआर खरगोन कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के आदेश पर दर्ज की गई है।
सरकारी धन की सुरक्षा और जवाबदेही तय करना बेहद जरूरी है।


Madhya Pradesh, प्रतिवाद समाचार, प्रतिवाद, MP News, Madhya Pradesh News, MP Breaking, Hindi Samachar, prativad.com

Related News

Latest News

Global News