सेना ने आतंकी ठिकानों को तबाह करने के लिए सरकार से मांगे 6 महीने

Location: नई दिल्ली                                                 👤Posted By: Digital Desk                                                                         Views: 16926

नई दिल्ली: अक्टूबर 4, 2016, पीओके में 6 आतंकी लॉन्च पैड के खात्मे के बाद अब भारतीय सेना ने सरकार से कहा है कि वे पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से 6 महीने में आतंकवाद को खत्म कर सकते हैं. दूसरी तरफ एक खूफिया रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि पाकिस्तानी आतंकवादियों की एक टीम को विशेष तौर पर भारतीय सैनिकों का सिर काटने के लिए तैयार किया गया है.



'इकोनॉमिक टाइम्स' में छपी खबर के मुताबिक बीते हफ्ते सेना के सर्जिकल स्ट्राइक को सबके सामने लाया गया. इसके बाद सेना ने सरकार से कहा है कि इस तरह के स्ट्राइक आतंकवादियों की क्षमता पर असर नहीं डालेंगे. अगर आतंकवाद का पूरी तरह खात्मा करना है तो इसके लिए एक अभियान चलाने की जरूरत है.



सशस्त्र बल के एक आर्म्ड फोर्सेस स्ट्रैटजिस्ट ने भी सरकार से कहा है कि हमें कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक के बदले के लिए तैयार रहना होगा. बारामुला में रविवार को BSF कैंप पर हमला किया था, उसी तरह कश्मीर के दूसरे हिस्सों में भी आतंकवादी हमला हो सकता है.



सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पीओके में बढ़ेंगे लॉन्च पैड्स

आर्म्ड फोर्सेस स्टैटजिस्ट ने सरकार से यह भी कहा है कि पीओके में आतंकवादियों के लॉन्च पैड्स को निशाना बनाने की जरूरत है. भारतीय सेना का मानना है कि पाकिस्तान में आतंक के आका सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बदला लेने की तैयारी में है. इसके लिए पीओके में और लॉन्च पैड्स बनाए जाएंगे, जिन्हें खत्म करने की जरूरत है.



पीओके में चल रहे हैं 40 टेरर ट्रेनिंग कैंप्स

एक अन्य आर्मी ऑफिसर के मुताबिक भारतीय सेना के अनुमान के मुताबिक पीओके में तकरीबन 40 टेरर ट्रेनिंग कैंप चलाए जा रहे हैं. इतना ही नहीं इस पूरे क्षेत्र में 50 के आसपास लॉन्च पैड्स हैं जिनमें 200 से ज्यादा आतंकी हैं. एलओसी से सटे इन लॉन्च पैड्स को पाकिस्तानी सेना सुरक्षा दे रही है.



भारतीय सैनिकों का सिर काटने के लिए बनाई विशेष टीम

पाकिस्तानी आतंकवादियों ने भारतीय सैनिकों को सिर काटने के लिए एक स्पेशल टीम तैनात की है. इसका नाम 'बॉर्डर एक्शन टीम' है. सीमा पर जहां-जहां भारतीय सैनिक तैनात हैं, इस टीम को भी वहीं रखा गया है. 'इकोनॉमिक टाइम्स' की खबर के मुताबिक एक खुफिया रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है.

Related News

Latest Tweets