30 करोड़ रुपये के बजट को खर्च करने के लिये तीर्थ दर्शन योजना शुरु करने की तैयारी

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 546

Bhopal: डॉ. नवीन जोशी
भोपाल 20 अक्टूबर 2021। प्रदेश का अध्यात्म विभाग तीर्थ दर्शन योजना के 30 करोड़ रुपये के बजट को खर्च करने के लिये इस योजना को शुरु करने की तैयारी कर रहा है। इसके लिये ट्रेवल एजेन्सी आईआरटीसी से विभागीय अफसरों की निरन्तर बैठकें हो रही हैं। अभी तक पन्द्रह ट्रेनों का तीर्थों के दर्शन कराने के लिये खाका खींचा गया है।
उल्लेखनीय है कि यह योजना भाजपा सरकार द्वारा वर्ष 2012 में प्रारंभ की गई थी तथा इसके तहत 60 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को सरकारी व्यय पर देश के विभिन्न राज्यों में स्थित प्रसिध्द तीर्थ स्थलों के दर्शन कराये जाते हैं। उनका जिला स्तर पर चयन होता है तथा ट्रेनल बुक कर इन्हें ले जाया जाता है तथा उनके तीर्थ स्थल पर ठहरने एवं खाने-पीने की भी व्यवस्था की जाती है। पिछले साल कोविड-19 के कारण इस योजना के लिये कोई बजट नहीं रखा गया था परन्तु वर्तमान वित्त वर्ष में इसके लिये 30 करोड़ रुपयों का बजट रखा गया है। लेकिन कोविड की दूसरी लहर के चलते यह योजना शुरु नहीं की जा सकी तथा अभी भी इसी समस्या से जूझा जा रहा है। यदि इस बजट को वित्त वर्ष के अंत तक खर्च नहीं किया गया तो यह राशि लैप्स हो जायेगी।
इसीलिये अध्यात्म विभाग इस राशि को व्यय करने के लिये तीर्थ दर्शन योजना शुरु करने के लिये अपनी ट्रेवल एजेन्सी आईआरटीसी से निरन्तर चर्चा की जा रही है। विभागीय मंत्री ऊषा ठाकुर भी इसके लिये प्रयासरत हैं। अनेक दौर की चर्चा के बाद पन्द्रह ट्रेनों को तीर्थ स्थलों के लिये ट्रेन से ले जाये जाने का खाका तैयार किया गया है। चूंकि दक्षिण के राज्यों में कोरोना के प्रकरण ज्यादा हैं, इसलिये वहां के तीर्थ स्थलों पर नहीं ले जाया जायेगा। इधर रेल्वे ने अपना किराया भी बहुत बढ़ाया हुआ है, जिसे कम कराने के लिये बातचीत की जा रही है। प्रदेश के हर जिले की अलग-अलग कोविड एसओपी है, इसलिये जिला कलेक्टरों से इस संबंध में चर्चा की जा रही है। विभाग कोविड के सभी प्रोटोकाल के साथ इस यात्रा को प्रारंभ करने की तैयारी कर रहा है।

Related News

Latest Tweets

Latest Posts