36 सहायक प्राध्यापकों का एक्जीक्युटिव रिकार्ड गायब......

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 223

Bhopal: आईपीएस अधिकारी सिमाला प्रसाद भी शामिल,



लोक सेवा आयोग से नियुक्त हुये थे,



शासकीय कालेजों के प्राचार्यों से मांगी जानकारी



डॉ. नवीन जोशी



14 सितंबर 2019। राज्य में पिछले भाजपा शासनकाल में वर्ष 2004, 2005 और 2006 में लोक सेवा आयोग के माध्यम से उच्च शिक्षा विभाग में नियुक्त हुये 36 सहायक प्राध्यापकों की न ही ज्वाईनिंग डेट और न ही उनका एक्जीक्युटिव रिकार्ड सरकार के पास मौजूद नहीं है। इस पर राज्य के सभी शासकीय महाविद्यालयों के प्राचार्यों से उनके संबंध में जानकारी मांगी गई है।



ये हैं 36 सहायक प्राध्यापक :

राज्य सरकार ने इन 36 सहायक प्राध्यापकों के बारे में जानकारी मांगी है : श्रीमती अर्चना स्टीफन-वनस्पति शास्त्र, डा. अमित जुगनू विश्वास-वनस्पति शास्त्र, चम्पा टोप्पो-वनस्पतिशास्त्र, अनिता बर्डे-वनस्पति शास्त्र, चन्द्रसेन मुवेल-विधि, गोपाल सतनाम गोखे-रसायन शास्त्र, अनोज कुमार चड़ार-रसायन शास्त्र, हरीश मीना-रसायन शास्त्र, दीप्ति सरकार-रसायन शास्त्र, संदीप विक्टर-रसायन शास्त्र, श्रीमती आशा चौधरी-रसायन शास्त्र, श्रीमती उमा बर्मन-रसायन शास्त्र, प्रिती गोखे-रसायन शास्त्र, दीवान सिंह मीना-रसायन शास्त्र, अखिलेश सिंह नैनवारल-रसायन शास्त्र, विजय कुमार मांझी-रसायन शास्त्र, श्रीमती गौरी रायकवार-रसायन शास्त्र, सुनीता शाह-रसायन शास्त्र, ज्योति मेहता-रसायन शास्त्र, कु. संगीता वालिया- गणित, भारत सिंह जमरे-गणित, श्रीमती नीलम परस्ते- गणित, मालती भोंसले- हिन्दी, कु. सिमाला प्रसाद- समाजशास्त्र, कु. पिंकी मौर्य- राजनीति शास्त्र, शिवराज पावके - भौतिक शास्त्र, भगत सिंह बघेल - भौतिक शास्त्र, प्रेमलाल मनोठिया - भौतिक शास्त्र, बृजेन्द्र कुमार बघेल - भौतिक शास्त्र, मीनाक्षी रायकवार - प्राणी शास्त्र, कु. सारिका भूरिया - प्राणी शास्त्र, विजय सिंह सोलंकी - प्राणी शास्त्र, कु. निशा डामर - प्राणी शास्त्र, दीपक मांझी - प्राणी शास्त्र, साम्य डेनियल वाणिज्य, दलपत राव नारनवो- भूगोल।



आईपीएस महिला अफसर भी :

उक्त 36 लोगों की सूची में वर्तमान आईपीएस अधिकारी कु. सिमाला प्रसाद का भी नाम है। वे वर्ष 2011 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं और 23 वीं बटालियन भोपाल में सेनानी के पद पर पदस्थ हैं। उनके पिता रिटायर्ड आईएएस अधिकारी एवं पूर्व लोकसभा सदस्य भागीरथ प्रसाद हैं।



उच्च शिक्षा विभाग को जानकारी नहीं :

उच्च शिक्षा विभाग को 13 साल भी यह जानकारी नहीं है कि सिमाला प्रसाद सहित उक्त सभी सहायक प्राध्यापकों की सेवा की क्या स्थिति है। दरअसल ये सभी परिवीक्षाधीन सहायक प्राध्यापक परिवीक्षा अवधि हेतु नियुक्त किये गये थे और जब इनकी परिवीक्षा अवधि समाप्त करने संबंधी प्रस्ताव राज्य शासन के समक्ष आया तो पता चला कि इनकी न ही डेट आफ ज्वाईनिंग है और न ही इनका एक्जीक्युटिव सर्विस रिकार्ड। इनके गोपनीय प्रतिवेदन भी उच्च शिक्षा विभाग के पास नहीं आ रहे थे। इसीलिये सभी शासकीय महाविद्यालयों के प्राचार्यों से कहा गया है कि यदि ये सहायक प्राध्यापकों कार्यरत हों तो उनका नियुक्ति आदेश क्रमांक एवं कार्यभार ग्रहण करने की तिथि एवं नेट/स्लेट/पीएचडी/एमफिल उपाधि अर्जित करने की जानकारी तत्काल उपलब्ध करायें।



सिमाला ने यह कहा :

आईपीएस अधिकारी सिमाला प्रसाद ने पूछे जाने पर स्वीकार किया कि उनका लोक सेवा आयोग से सहायक प्राध्यापक समाजशास्त्र के पद पर चयन एवं नियुक्ति हुई थी परन्तु उन्होंने ज्वाईनिंग नहीं की थी। अब वे आईपीएस अधिकारी हैं।

विभागीय अधिकारी ने बताया कि हमे 36 सहायक प्राध्यापकों की परिीवीक्षा अवधि समाप्त करना थी परन्तु हमारे पास इनका कोई रिकार्ड ही नहीं है। इसीलिये यह जानकारी मांगी गई है। सिमाला प्रसाद ने ज्वाईनिंग नहीं दी थी तो इसका भी पता चल जायेगा।



Related News

Latest Tweets