सभी नगरीय निकायों की सर्विस लेवल बेंच मार्किंग जारी

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 215

Bhopal: भोपाल और जबलपुर में जलापूर्ति 4 घण्टे ही की जायेगी



3 अक्टूबर 2019। राज्य सरकार ने सभी नगरीय निकायों की सर्विस लेवल बेंच मार्किंग जारी कर दी है। पिछले वर्ष भोपाल नगर निगम में प्रतिदिन जल प्रदाय का लक्ष्य 24 घण्टे निर्धारित हुआ था परन्तु 4 घण्टे ही जलापूर्ति की गई और अब वर्ष 2019-20 के लिये लक्ष्य भी 4 घण्टे प्रतिदिन का रखा गया है। वहीं संस्कारधानी जबलपुर नगर निगम में गत वर्ष जलापूर्ति का लक्ष्य 6 घण्टे था परन्तु 4 घण्टे ही जलापूर्ति की गई और इस साल के लिये लक्ष्य भी 4 घण्टे ही रखा गया है। जबकि इस समय इन दोनों नगरों में भारी वर्षा हुई है और जल का संचय भी अच्छा हुआ है।



इसी प्रकार भोपाल में वर्षा जल की निकासी तंत्र की व्याप्तता गत वर्ष सौ प्रतिशत लक्ष्य के विरुध्द 26 प्रतिशत ही रही और इस साल का लक्ष्य 28 प्रतिशत रखा गया है। वहीं जबलपुर में यह व्याप्तता गत वर्ष 80 प्रतिशत लक्ष्य के विरुध्द 65 प्रतिशत रही और इस साल लक्ष्य 80 प्रतिशत रखा गया है। इसके अलावा भोपाल में सीवरेज तंत्र की व्याप्तता का गत वर्ष सौ प्रतिशत लक्ष्य रखा गया था परन्तु उपलब्धि 78 प्रतिशत ही रही और इस साल लक्ष्य पुन: सौ प्रतिशत रखा गया है। जबकि जबलपुर में सीवरेज तंत्र की व्याप्तता का गत वर्ष लक्ष 30 प्रतिशत रखा गया था और उपलब्धि भी 30 प्रतिशत ही रही तथा इस साल लक्ष्य 50 प्रतिशत का रखा गया है।



छिन्दवाड़ा नगर निगम की स्थिति :

छिन्दवाड़ा नगर निगम में गत वर्ष जलापूर्ति का लक्ष्य 24 घण्टे रखा गया था परन्तु उपलब्धि एक घण्टे की ही रही और अब पुन: 24 घण्टे का लक्ष्य रखा गया है। इसी प्रकार, वर्षा जल निकासी तंत्र की व्याप्तता का गत वर्ष सौ प्रतिशत लक्ष्य के विरुध्द उपलब्धि 70 प्रतिशत रही और इस साल पुन: सौ प्रतिशत लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा सीवरेज तंत्र की व्याप्तता का गत वर्ष लक्ष्य सौ प्रतिशत था और उपलनब्धि भी सौ प्रतिशत रही और इस साल का लक्ष्य भी सौ प्रतिशत रखा गया है।



सतना नगर निगम की स्थिति :

सतना नगर निगम में गत वर्ष जलापूर्ति का लक्ष्य प्रतिदिन 2 घण्टे रहा और उपलब्धि भी 2 घण्टे रही और इस साल का लक्ष्य भी 2 घण्टे ही रखा गया है।



सतना में सीवरेज तंत्र की व्याप्तता का गत वर्ष कोई लक्ष्य नहीं रखा गया तथा इस साल भी कोई लक्ष्य नहीं रखा गया है। वर्षा जल निकासी तंत्र की व्याप्तता का गत वर्ष लक्ष्य 90 प्रतिशत के विरुध्द उपलब्धि 90 प्रतिशत रही और इस साल का लक्ष्य 95 प्रतिशत रखा गया है।



सिंगरौली नगर निगम की स्थिति :

सिंगरौली नगर निगम में प्रतिदिन जलापूर्ति का लक्ष्य गत वर्ष 3 घण्टे थी और उपलब्धि भी 3 घण्टे की रही और इस साल का लक्ष्य भी 3 घण्टे रखा गया है।



सीवरेज तंत्र की व्याप्तता का गत वर्ष लक्ष्य 30 प्रतिशत था और उपलब्धि भी 30 प्रतिशत रही और इस साल का लक्ष्य भी 30 प्रतिशत रखा गया है। वर्षा जल निकासी तंत्र की व्याप्तता का लक्ष्य गत वर्ष 90 प्रतिशत था और उपलब्धि भी 90 प्रतिशत रही और इस साल का लक्ष्य 92 प्रतिशत रखा गया है।



छतरपुर नगर पालिका की स्थिति :

छतरपुर नगर पालिका में प्रतिदिन जलापूर्ति का गत वर्ष लक्ष्य डेढ़ घण्टे था और उपलब्धि भी डेढ़ घण्टे रही और इस साल का लक्ष्य एक घण्टा रखा गया है। सीवरेज तंत्र की व्याप्तता का गत वर्ष कोई लक्ष्य नहीं रखा गया तथा इस साल भी कोई लक्ष्य नहीं है। वर्षा जल निकासी तंत्र की व्याप्तता का गत वर्ष लक्ष्य 90 प्रतिशत लक्ष्य के विरुध्द उपलब्धि 80 प्रतिशत रही और इस साल का लक्ष्य 95 प्रतिशत रखा गया है।







- डॉ. नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets