×

मध्य प्रदेश में दो साल में पर्यटकों के लिये 524 ग्रामीण होमस्टे बनेंगे

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 633

Bhopal:
पहले से बने 70 होमस्टे का उन्नयन होगा, 11.32 करोड़ खर्च होंगे
भोपाल 30 सितंबर 2022। मध्य प्रदेश में पर्यटकों के लिये ग्रामीण क्षेत्रों में दो साल में कुल 524 होमस्टे बनेंगे जबकि पहले से इन क्षेत्रों में बने 70 होमस्टे का उन्नयन किया जायेगा। इसके लिये राज्य का पर्यटन विभाग 11 करोड़ 32 लाख रुपये का अनुदान देगा। इसके लिये राज्य सरकार ने ग्रामीण पर्यटन परियोजना अंतर्गत चयनित होमस्टे स्थापना की स्वीकृति प्रदान की है।
उल्लेखनीय है कि ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीणों को अपने आवास में पर्यटकों के ठहरने हेतु आवश्यक सुधिाओं से युक्त कक्ष बनाने के लिये चार योजनायें संचालित की जा रही हैं जिनमें मप्र होमस्टे स्थापना योजना 2010, मप्र ग्राम स्टे योजना पंजीयन तथा नियमन योजना 2019, मप्र फार्म स्टे योजना 2019 तथा मप्र बेड एण्ड ब्रेकफास्ट स्थापना योजना 2019 शामिल हैं। इन चारों योजनाओं के तहत ग्रामीण क्षेत्र में पर्यटक आवास बनाने पर हितग्राही को अधिकतम 2 कक्षों के निर्माण की कुल स्थापना लागत का 40 प्रतिशत अथवा कुल राशि 2 लाख रुपये जो भी कम हो, सरकार की ओर से अनुदान के रुप में देय होगी। इसी प्रकार, पहले से बने होमस्टे के उन्नयन के लिये अधिकतम 2 कक्षों के उन्नयन की कुल लागत का 40 प्रतिशत अथवा कुल राशि 1 लाख 20 हजार रुपये जो भी कम हो देय होगी। यह अनुदान दो किश्तों में दिया जायेगा।
राज्य सरकार ने दो साल में ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 594 होमस्टे की स्थापना का लक्ष्य रखा है तथा इसके लिये बजट भी स्वीकृत किया है। वर्ष 2022-23 में 200 नये होमस्टे बनाये जायेंगे जबकि पहले से बने 30 होमस्टे का उन्नयन होगा तथा कुल 230 होमस्टे पर 4 करोड़ 36 लाख रुपये अनुदान दिया जायेगा। इसी प्रकार, वर्ष 2023-24 में 324 नये होमस्टे बनाये जायेंगे एवं पहले से बने 40 होमस्टे का उन्नयन किया जायेगा तथा इन सभी 364 होमस्टे हेतु 6 करोड़ 96 लाख रुपये का अनुदान दिया जायेगा। इस प्रकार, दो सालों में कुल 594 होमस्टे हेतु कुल 11 करोड़ 32 लाख रुपये का अनुदान दिया जायेगा।


- डॉ. नवीन जोशी


Madhya Pradesh, MP News, Madhya Pradesh News, Hindi Samachar, prativad.com


Related News

Latest Tweets