×

विभागों के मुखिया भी बदले जाएंगे फिर होगा प्रशासनिक फेरबदल...

Location: भोपाल                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 628

भोपाल: चुनावी साल शुरु होने के बाद प्रदेश में की जा रही अफसरों की जमावट का काम अभी भी जारी है। मैदानी स्तर पर रुक-रुक कर बदले गए अफसरों के बाद भी नई पदस्थापनाओं का दौर जारी है। दरअसल यह पूरी कवायद सरकार द्वारा आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर की जा रही है। बताया जा रहा है कि अब एक बार फिर से सरकार आला अफसरों की नए सिरे से पदस्थापना करने जा रही है। इसमें कई संभागायुक्तों के साथ विभागों के मुखिया तक के नाम शामिल रहने वाले हैं। यही वजह है कि इस बार होने वाले इस बड़े प्रशासनिक फेरबदल में मंत्रालय से लेकर मैदानी स्तर तक परिवर्तन होना तय है। इस सूची में ऐसे अफसरों के नाम भी शमिल रहने वाले हैं, जिनका कार्यकाल इस साल एक ही स्थान पर पूरे तीन साल का होने जा रहा है। सूत्रों की माने तो इस फेरबदल में तीन संभागायुक्त का बदलना तय है। इसमें इंदौर, रीवा और उज्जैन के संभागायुक्त के नाम बताए जा रहे हैं। अभी रीवा कमिश्नर पद पर अनिल सुचारी, उज्जैन में संदीप यादव और इंदौर में पवन शर्मा पदस्थ हैं। इन तीनों ही अफसरों को मैदानी स्तर से हटाकर मंत्रालय में पदस्थ किए जाने की तैयारी है। इन तीनों ही अफसरों की जगह किन अफसरों की पदस्थापना की जाएगी अभी यह तय नही है। सूत्रों की मानें तो इंदौर, रीवा और उज्जैन कमिश्नर के लिए अभी किसी एक नाम पर सहमति नहीं बनने की वजह से ही तबादला आदेश जारी नहीं हो पा रहे हैं। माना जा रहा है कि एक दो दिन में तीनों ही जगह के लिए नाम तय कर लिए जाएंगे। नए सिरे से की जाने वाली इन पदस्थापनाओं के लिए बीते दो दिन से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस के साथ बैठक हो चुकी है।

सूत्रों का कहना है कि इस सूची में कई विभागों के प्रमुख सचिव के कामकाज में भी बदलाव तय है। इसी तरह से टीएनसीपी के कमिश्नर और प्रमुख सचिव आर्थिक सांख्यकी विभाग मुकेश गुप्ता को बदला जाना भी तय है। मुकेश गुप्ता अब प्रमुख सचिव बन चुके हैं, जिसकी वजह से वे खुद टीएनसीपी के कमिश्नर के पद से हटना चाहते हैं। इसके अलावा तीन साल से एक ही विभाग में रह चुके अधिकारियों के भी विभाग बदले जाने हैं। कुछ अफसरों के विभाग उनकी विभागीय मंत्रियों से पटरी नहीं बैठ पाने की वजह से भी बदले जाना हैं। जिन अफसरों के विभाग बदले जाना तय माने जा रहे हैं। उनमें प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा रश्मि अरुण शमी, प्रमुख सचिव आदिम जाति कल्याण डॉ. पल्लवी जैन गोविल, आयुक्त आदिम जाति कल्याण संजीव कुमार सिंह को अन्य विभाग में पदस्थ किया जा सकता है। इंदौर कमिश्नर पवन शर्मा, आयुक्त आदिम जाति कल्याण संजीव सिंह और टीएनसीपी के कमिश्नर मुकेश गुप्ता को महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी दी जा सकती है। गौरतलब है कि इसके पहले जनवरी माह के अंतिम सप्ताह में भी एक तबादला सूची जारी की गई थी, जिसमें 7 जिलों के कलेक्टर का तबादला किया गया था। जिसमें शिवपुरी के कलेक्टर अक्षय सिंह को ग्वालियर, शिवराज वर्मा को खरगोन, राहुल हरिदास फटिंग को बड़वानी एवं धार्मिक नगरी उज्जैन की जिम्मेदारी आईएएस कुमार पुरुषोत्तम को सौंपी गई थी। इसके पहले भी बीते साल नबंवर में 14 जिलों के कलेक्टर बदले गए थे। उल्लेखनीय है कि हाल ही में एक अन्य आदेश में भी कुछ आईएएस अफसरों के तबादले किए गए हैं।

- डॉ. नवीन जोशी


Madhya Pradesh, प्रतिवाद समाचार, प्रतिवाद, MP News, Madhya Pradesh News, Hindi Samachar, prativad.com

Related News

Latest News

Global News