×

उज्जैन में 500 करोड़ की लागत से बनेगा भक्त निवास

Location: भोपाल                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 491

भोपाल: 22 सितंबर 2023। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन में 500 करोड़ की लागत से बनने वाले भक्त निवास का भूमिपूजन किया। इस भक्त निवास में 2250 कमरे होंगे, जिनमें 4500 श्रद्धालु ठहर सकेंगे। भक्त निवास में श्रद्धालुओं के लिए सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उज्जैन महाकाल के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के लिए यह भक्त निवास एक वरदान होगा। यह भक्त निवास उज्जैन के विकास में एक महत्वपूर्ण योगदान देगा।

उज्जैन अब उद्योगों का केंद्र बन रहा है
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उज्जैन में 15 एमएसएमई क्लस्टर और 307 औद्योगिक इकाइयों का भूमिपूजन और 1708 इकाइयों का लोकार्पण किया। इन इकाइयों से लगभग 71 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उज्जैन अब उद्योगों का केंद्र बन रहा है। महाकाल महाराज की कृपा से उज्जैन में एक के बाद एक उद्योग स्थापित हो रहे हैं। इससे उज्जैन की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा।

उज्जैन में हुए अन्य विकास कार्य
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उज्जैन में 159 करोड़ की लागत से निर्मित मेघदूत पार्किंग और संभागीय आईटीआई का लोकार्पण भी किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उज्जैन में विकास के कार्य निरंतर जारी रहेंगे। सरकार उज्जैन को एक विकसित शहर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कही ये बातें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपने संबोधन में कहा कि अध्यात्म का केंद्र उज्जैन अब उद्योगों का केंद्र भी बनने जा रहा है। महाकाल महाराज की कृपा से उज्जैन की विक्रम उद्योगपुरी में एक के बाद एक उद्योग स्थापित हो रहे हैं। उज्जैन की पूरी अर्थ व्यवस्था ही बदल गई है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महाकाल महालोक के बाद महालोक के दूसरे चरण का लोकार्पण भी होगा। अवंतिका अब तीन लोक से न्यारी होगी। उज्जैन विकास के पथ पर बढ़ गया है, उज्जैन वैभव से सम्पन्न होगा। बड़ी संख्या में काम-धंधे आरंभ होंगे। मेडिकल कॉलेज का भूमिपूजन भी जल्दी होगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पूरे देश में महाकाल की कृपा बरस रही है। प्रदेश में 15 दिन पहले सूखे की स्थिति निर्मित हो रही थी। उज्जैन धर्म, आराधना और तपस्या का बड़ा केंद्र है। उज्जैन में विकास के काम निरंतर जारी रहेगा। विकास के काम में पैसे के कमी नहीं आयेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह महिला सशक्तिकरण का दौर है। मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना से हमने बहनों को पैसा नहीं सम्मान दिया है। यह योजना नहीं बहनों की जिंदगी बदलने का अभियान है। योजना में बहनों को दी जा रही राशि को बढ़ाकर 1250 रुपए किया गया है। इसे धीरे-धीरे तीन हजार रुपए तक बढ़ाया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि योजना में मिल रही राशि से बहनों का आत्मसम्मान और आत्म-निर्भरता बढ़ी है। इससे परिवार सशक्त होंगे और परिवार सुखी होगा तो वह प्रगति भी करेगा। सरकार जन कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। विद्यार्थियों के लिए शिक्षा की व्यवस्था, प्रोत्साहन और प्रतियोगी भाव जगाने के लिए लेपटॉप और स्कूटी आदि देने के साथ-साथ नि:शुल्क उपचार की व्यवस्था हर परिवार के लिए घर और पट्टें की व्यवस्था की जा रही है। मुख्यमंत्री भू-अधिकार योजना के अंतर्गत हर गरीब को रहने के लिए जमीन का पट्टा उपलब्ध कराया जाएगा, शहरी क्षेत्र में माफिया से मुक्त कराई भूमि पर गरीबों को बसाया जाएगा। इसके साथ ही मल्टी स्टोरी बनाकर भी आवास उपलब्ध कराए जाएंगे।


Madhya Pradesh, प्रतिवाद समाचार, प्रतिवाद, MP News, Madhya Pradesh News, MP Breaking, Hindi Samachar, prativad.com


Related News

Latest News

Global News