मप्र में महिलाओं की जीवन प्रत्याशा पुरुषों से ज्यादा हुई

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 607

Bhopal: डॉ. नवीन जोशी

भोपाल 23 सितंबर 2021। मप्र में जीवन प्रत्याशा (जीने की अधिकतम आयु) पुरुषों की तुलना में महिलाओं की ज्यादा हो गई है। राज्य के योजना विभाग के मुताबिक, भारत सरकार के रजिस्ट्रार जनरल एवं सेन्सस कमिश्नर ऑफ इंडिया द्वारा जारी सैम्पल रजिस्ट्रेशन सिस्टम की रिपोर्ट के अनुसार मप्र में प्रति व्यक्ति औसत आयु 66.5 वर्ष पाई गई है तथा भारत देश की प्रतिव्यक्ति औसत आयु 69.4 वर्ष है। इस हिसाब से मप्र की प्रतिव्यक्ति औसत आयु भारत देश से 2.9 वर्ष कम है।
मप्र में पुरूषों की औसत आयु 64.8 वर्ष है तथा महिलाओं की औसत आयु 68.5 प्रतिशत है और इस प्रकार मप्र में पुरूषों की औसत आयु महिलाओं की तुलना में 3.7 वर्ष कम है। इसी प्रकार मप्र में ग्रामीण क्षेत्र में प्रतिव्यक्ति औसत आयु 65.3 वर्ष है तथा शहरी क्षेत्र में औसत आयु 70.5 वर्ष है और इस हिसाब से ग्रामीण क्षेत्र में प्रति व्यक्ति औसत आयु शहरी क्षेत्र की तुलना में 5.2 वर्ष कम है।
प्रति व्यक्ति आय :
योजना विभाग के अनुसार, प्रदेश की प्रति व्यक्ति आय (प्रचलित भावों पर) वर्ष 2004-05 में 15442 रूपये, 2010-11 में 32453 रूपये, 2015-16 में 62080 रूपये एवं 2019-20 में 1,03,288 रूपये रही है। प्रदेश की स्थिर भावों पर प्रति व्यक्ति आय वर्ष 2004-05 में 15442 रूपये 2010-11 में 21706 रूपये, 2015-16 में 47351 रूपये एवं 2019-20 में 62,236 रूपये रही है।
मातृ एवं शिशु मृत्यु दर :
योजना विभाग के अनुसार, प्रदेश में मातृ मृत्यु दर 173 प्रति लाख जीवित जन्म है एवं प्रदेश में सेम्पल रजिस्ट्रेशन सिस्टम की जारी रिपोर्ट अनुसार शिशु मृत्यु दर 48 प्रति हजार जीवित जन्म है। भारत सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार देश में मातृ मृत्यु दर का मप्र का 18वां एवं शिशु मृत्यु दर का मप्र का 36वां स्थान है।

Related News

Latest Tweets