कमलनाथ के इस्तीफे पर शिवराज और सिंधिया ने कहा- सत्यमेव जयते!

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 340

Bhopal: 20 मार्च 2020। मध्य प्रदेश में सियासी ड्रामा का अंत हो गया हैं। कमलनाथ ने राज्यपाल को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा सौंप दिया है। 15 महीने पुरानी कमलनाथ सरकार के जाने पर भाजपा नेताओं ने प्रतिक्रियाएं दी हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि मध्य प्रदेश में आज जनता की जीत हुई है। मेरा सदैव ये मानना रहा है कि राजनीति जनसेवा का माध्यम होना चाहिए, लेकिन प्रदेश सरकार इस रास्ते से भटक गई थी। सच्चाई की फिर विजय हुई है। सत्यमेव जयते! जीतू पटवारी ने कहा- सत्ता परिवर्तन में भाजपा ने महिलाओं का इस्तेमाल किया। शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा- सत्यमेव जयते! मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा- जनता हार गई, भाजपा जीत गई।

कमलनाथ के इस्तीफा से पहले नेताओं के दावे....

दिग्विजय सिंह ने कहा कि 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद कमलनाथ सरकार के पास नंबर नहीं है। पैसे और सत्ता के बल पर बहुमत वाली सरकार को अल्पमत में लाया गया है। अब सरकार बचना मुश्किल है। सीएम हाउस जाते समय सिंह ने कहा- जो भी निर्णय होगा, वो विधायक दल की बैठक में होगा। मीडिया के सामने सारी बात रखी जाएगी।

पीसी शर्मा ने दावा किया कि हमारे पास 105 विधायक हैं। कुछ भाजपा विधायक हमारे संपर्क में हैं। हम फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करेंगे। 10.30 बजे विधायक दल की बैठक है। पैसे और पावर की दम पर विधायकों को बंधक बनाने के घटनाक्रम को लेकर आज मुख्यमंत्री इसका खुलासा करेंगे। 100 हमारे हैं। 5 भाजपा विधायक संपर्क में हैं। ये सब फ्लोर पर पता चलेगा।

कमलनाथ ने कहा- सुप्रीम कोर्ट के आदेश का और इसके हर पहलू का हम अध्ययन करेंगे। विधि-विशेषज्ञों से चर्चा करेंगे, सलाह लेंगे, फिर उसके आधार पर निर्णय लेंगे।

मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि हम हर हालत में फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हैं। बहुमत साबित करके दिखाएंगे।

सज्जन सिंह वर्मा ने कहा- आखिरी बॉल पर छह रन चाहिए। कप्तान क्रीज पर डटे हुए हैं। पूरी टीम और प्रदेश की जनता को कप्तान कमलनाथ पर पूरा यक़ीन... ?सत्यमेव जयते?

कांतिलाल भूरिया ने कहा- सदन शुरू होने दीजिए। बड़े धमाके होने वाले हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा- हमारे पास बहुमत है। सरकार अल्पमत में है। सदन में सामने आ जाएगा।

नरोत्तम मिश्रा ने कहा- तुम्हारे पांव के नीचे कोई जमीन नहीं, कमाल ये है कि फिर भी तुम्हें यकीन नहीं। मैं कोई मास्टरमाइंड नहीं हूं। मेरा उनसे कहना है कि जो सच है उसे स्वीकार करो और अपने कर्मों पर विचार करो। ताज्जुब है कि वह अब भी नहीं मान रहे हैं कि उनके पास बहुमत नहीं है।

स्पीकर एनपी प्रजापति ने बागी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार करने में देरी पर सफाई दी। कहा- मैं विधायकों के सामने आने का इंतजार कर रहा है। दूसरी बार भेजा गया इस्तीफा कार्यालय में आया। कोई मेरे सामने नहीं आया। मैं लगातार भोपाल में रहा। खुद पर लगे आरोपों पर प्रजापति ने कहा- आरोप तो भगवान राम पर भी लगे थे।

Related News

Latest Tweets

Latest Posts