×

वंचित आवासहीनों के लिए लागू होगी मुख्यमंत्री जन आवास योजना : मुख्यमंत्री श्री चौहान

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 385

Bhopal: प्रदेश में कोई भी घर, इलाज और शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा
प्रत्येक पात्र को मिलेगा शासन की योजनाओं का लाभ
शत-प्रतिशत सेचुरेशन के लिए सितम्बर-अक्टूबर में चलेगा विशेष अभियान
माफिया से मुक्त 21 हजार एकड़ भूमि पर गरीबों के लिए बनेंगी स्वराज कॉलोनियाँ
प्रदेश के स्थापना दिवस पर एक सप्ताह तक चलेंगी गतिविधियाँ
धार के कारम बांध के जल की सुरक्षित निकासी के लिए मार्ग बनाने वाले पोकलेन ड्रायवरों को सम्मान स्वरूप दी जाएगी 02-02 लाख रूपए की सम्मान निधि
बालाघाट जिले में डॉ. हेडगेवार की स्मृतियों को सहेजने बनेगा स्मारक
मुख्यमंत्री श्री चौहान के मुख्य आतिथ्य में हुआ राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह
भारी वर्षा के बीच हुआ परेड कार्यक्रम और अलंकरण समारोह
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने परेड में शामिल सभी प्लाटूंस के धैर्य, संयम और संकल्प को सराहा
भोपाल 15 अगस्त 2022, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य शासन का संकल्प है कि प्रदेश की धरती पर कोई भी परिवार बिना जमीन और बिना घर के नहीं रहेगा, कोई भी गरीब इलाज से वंचित नहीं रहेगा, कोई मेधावी विद्यार्थी धन के अभाव में शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा, कोई भी बच्चा बेसहारा नहीं रहेगा, कोई भी परिवार साफ पीने के पानी से वंचित नहीं रहेगा और कोई भी पात्र हितग्राही शासन की योजनाओं के लाभ से वंचित नहीं रहेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश की जनता से इन क्षेत्रों में सरकार के साथ मिल कर काम करने की अपील की। उन्होंने कहा कि बेटी बचाना, नशा मुक्त समाज बनाना, ऊर्जा की बचत, पानी बचाना, पेड़ लगाना और स्वच्छता में सक्रियता से भाग लेना प्रत्येक प्रदेशवासी का कर्त्तव्य है। उन्होंने प्रदेशवासियों को अपने इन नागरिक कर्त्तव्यों का पालन करने के लिए प्रेरित किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान मोतीलाल नेहरू स्टेडियम भोपाल में राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह में ध्वजारोहण किया। पुलिस बैंड की धुन के साथ राष्ट्र गान हुआ। मुख्यमंत्री श्री चौहान को परेड द्वारा सलामी दी गई। परेड कमांडर सहायक पुलिस आयुक्त भोपाल श्री अभिनय विश्वकर्मा के नेतृत्व में परेड में एसटीएफ, विशेष सशस्त्र बल उत्तरी जोन एवं दक्षिण जोन, जिला पुलिस बल, हॉक फोर्स, शासकीय रेल पुलिस, विशेष सशस्त्र बल, जिला बल का महिला दल, जेल विभाग, नगर सेना, एनसीसी सीनियर विंग गर्ल्स, एनसीसी सीनियर विंग बॉयस, गाईड गर्ल्स, स्काउट और पुलिस बैंड की टुकड़ियाँ शामिल हुई। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा स्वतंत्रता दिवस पर पदक अलंकरण समारोह में राष्ट्रपति द्वारा वीरता, विशिष्ट सेवा और सराहनीय कार्य के लिए प्रदत्त पदक पुलिस, होमगार्ड तथा जेल विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को प्रदान किए।

भारी वर्षा के बीच हुए परेड कार्यक्रम और अलंकरण समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ऐसा प्रतीत हो रहा है मानों प्रकृति मेघ मल्हार गाकर आजादी की वर्षगाँठ मना रही हो। तेज बारिश में अडिग खड़ी परेड के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि परेड में सम्मिलितों के धैर्य, संयम और संकल्प को देख कर यह विश्वास के साथ कहा जा सकता है कि दुनिया की कोई ताकत भारत माता की तरफ आँख उठाकर नहीं देख सकती। आजादी के अमृत काल में अमृत वर्षा की बूँदों के संगीत और पुलिस बेंड की धुन पर परेड सम्पन्न हुई।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वतंत्रता दिवस पर प्रदेश में वंचित आवासहीनों को आवास उपलब्ध कराने "मुख्यमंत्री जन आवास" योजना लागू करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की धरती पर कोई बेघर नहीं रहेगा। मुख्यमंत्री भू-अधिकार योजना में प्रत्येक व्यक्ति को आवास के लिए जमीन का टुकड़ा उपलब्ध कराया जाएगा। जहाँ आवश्यक होगा वहाँ हाईराइज बिल्डिंग बनाकर गरीबों को आवास उपलब्ध कराए जाएंगे। माफिया से मुक्त कराई गई लगभग 21 हजार एकड़ भूमि पर गरीबों के लिए "सुराज कॉलोनियाँ" विकसित की जाएंगी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में संचालित गरीब कल्याण योजनाओं से कोई भी पात्र व्यक्ति वंचित न रहे, इसके लिए प्रदेश में आगामी सितम्बर-अक्टूबर माह में विशेष अभियान चलाया जाएगा। प्रदेश में 18 सितम्बर 2022 तक पेसा एक्ट लागू कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के इस वर्ष में एक नवम्बर मध्यप्रदेश का स्थापना दिवस आनंद और प्रसन्नता के साथ मनाने के लिए एक सप्ताह तक गतिविधियाँ संचालित की जाएंगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने धार जिले के कारम मध्यम सिंचाई परियोजना के बांध के क्षतिग्रस्त हो जाने से बने संकट का सफलतापूर्वक सामना करने के लिए टीम मध्यप्रदेश को बधाई दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि टीम मध्यप्रदेश में प्रदेश के मंत्रिगण, अधिकारी, जन-प्रतिनिधि और प्रदेश की जनता शामिल हैं। बांध पर आए संकट का जनता के सहयोग से जिस तरह से सामना किया गया वह डिजास्टर मैनेजमेंट का उत्कृष्ट उदाहरण है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बांध में पोकलेन मशीन से बांध के पानी के लिए मार्ग बनाने वाले ड्राइवरों को सम्मानित करते हुए सम्मान निधि के रूप में प्रत्येक चालक को 2-2 लाख रूपये प्रदान करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 1761 में सन्यासी विद्रोह से आरंभ हुए स्वतंत्रता संघर्ष में अनेकानेक जननायकों ने अपना सर्वस्व न्यौछावर कर देश को आजादी दिलाई। प्रदेश की धरती पर शहीद चंद्रशेखर आजाद, भीमा नायक, रानी दुर्गावती, महारानी लक्ष्मीबाई, रानी आवंतीबाई और शंकरशाह-रघुनाथ शाह ने अपने प्राणों की आहूति दी। देश को अंग्रेजों की पराधीनता से मुक्त कराने के लिए विजयादशमी के दिन स्वराज का अलख जगाने वाले डॉ. हेडगेवार ने अपना सारा जीवन देश को समर्पित कर दिया। डॉ. हेड़गेवार की अनेक स्मृतियाँ बालाघाट जिले के रामपायली से जुड़ी हैं। बालाघाट जिले में उनकी स्मृतियों को चिरस्थाई बनाने के लिए स्मारक बनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भारत भूमि के समृद्ध अतीत पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में देश प्रगति के नये आयाम स्थापित कर रहा है। आत्म-निर्भर भारत की दिशा में आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए भी राज्य सरकार की ओर से हरसंभव प्रयास जारी है। प्रदेश की आर्थिक वृद्धि दर 19.74 प्रतिशत के साथ देश में अग्रणी है। पिछले दो वर्षों में प्रदेश के पूँजी गत व्ययों में लगभग 45 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेशवासियों को मूलभूत सुविधाएँ उपलब्ध कराने के साथ गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए सर्वसुविधायुक्त सी.एम. राईज स्कूल स्थापित किए जा रहे हैं। सबको स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हों, इसके लिए 2 करोड़ 78 लाख आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराए गए हैं। साथ ही मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान से भी इलाज की व्यवस्था जारी है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए एक साल में एक लाख शासकीय पदों पर भर्तियाँ की जाएंगी। हर महीने रोजगार दिवस का आय़ोजन किया जाएगा, जिसमें 2 लाख युवाओं को स्व-रोजगार से जोड़ने के लिए विभिन्न योजनाओं में स्व-रोजगार के लिए ऋण सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में नई स्टार्टअप नीति लागू कर दी गई है। प्रदेश के कुछ स्टार्टअप्स ने उल्लेखनीय उपलब्धियाँ दर्ज कराई हैं। प्रदेश का एक स्टार्टअप प्रतिष्ठित यूनिकार्न श्रेणी में शामिल हो चुका है। प्रदेश में निवेश को आकर्षित करने के विशेष प्रयास किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसानों की आमदनी बढ़ाना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। परंपरागत फसलों के स्थान पर लाभकारी फसलों के उत्पादन को बढ़ावा देने कृषि के विविधिकरण के लिए योजना लागू की गई है। किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा कृषकों को ब्याज से मुक्ति दिलाई जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि माँ, बहन, बेटी का कल्याण, उनकी सुरक्षा और उन्हें प्रगति के सभी अवसर उपलब्ध कराना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। प्रदेश में लाड़ली लक्ष्मी योजना-2 का क्रियान्वयन जारी है। प्रदेश में प्रति हजार पर बालिकाओं का अनुपात 912 से बढ़कर 976 हो गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में यह अनुपात बराबर हो जाने तक हम चैन से नहीं बैठेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में अधो-संरचना विकास के लिए विभिन्न गतिविधियाँ संचालित की जा रही हैं। हर गाँव को सड़क से जोड़ने के साथ गाँव में आंतरिक सड़कों का निर्माण, सामुदायिक भवन निर्माण और हर गाँव में खेल मैदान उपलब्ध कराने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य जारी है। प्रदेश में हुई समरस गाँव की पहल ने देश में एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। हर स्तर पर सुशासन राज्य सरकार का लक्ष्य है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विकास और जन-कल्याण गतिविधियों में जन-भागीदारी को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता बताते हुए कहा कि हर गतिविधि केवल राज्य शासन के माध्यम से संचालित करना संभव नहीं है। विकास और जन-कल्याण के कार्यों में जनता के सहयोग से अधिक बेहतर परिणाम प्राप्त होते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेशवासियों को अपने गाँव और शहरों का गौरव दिवस मनाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि प्रदेशवासी संकल्प लें कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आत्म-निर्भर भारत के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण में अपनी ओर से श्रेष्ठतम रूप से प्रयासरत और भारत माता के लिए सर्वस्व न्यौछावर करने के लिए संकल्पित रहेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समारोह में परेड के विजेताओं को शील्ड प्रदान की। आर्म्ड प्लाटून श्रेणी में एसटीएफ दल के कमांडर श्री निर्भय पारोचे और अनआर्म्ड प्लाटून श्रेणी में एनसीसी सीनियर विंग्स गर्ल्स की सीनियर अंडर ऑफिसर कुमारी जया परसोदिया को शील्ड प्रदान की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने परेड में शामिल प्लाटूंस के कमांडरों से परिचय भी प्राप्त किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पुलिस पदक प्राप्त अधिकारियों और जवानों के साथ ग्रुप फोटो करवाया।

समारोह में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक श्री सुधीर कुमार सक्सेना, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी परिवार, अधिकारी, महाविद्यालयीन एवं स्कूली विद्यार्थी और गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Related News

Latest Tweets