×

गोबर गैस से दौड़ेगी गाड़ी! नई इलेक्ट्रिक कारें भी ला रही है Maruti

prativad news photo, top news photo, प्रतिवाद
Location: Bhopal                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 3610

Bhopal: 27 जनवरी 2023। Maruti Suzuki जल्द ही बाजार में 6 इलेक्ट्रिक वाहनों को पेश करेगी. इसके अलावा ब्रांड की पैरेंट कंपनी सुजुकी बायोगैस व्यवसाय पर भी ध्यान केंद्रित करेगी, जिसमें मवेशियों के गोबर से तैयार होने वाले बायोगैस का उत्पादन और आपूर्ति की जाएगी. इस बायोगैस का उपयोग सुजुकी के CNG मॉडल के लिए किया जा सकता है.

मारुति सुजुकी अब तक इलेक्ट्रिक कार बाजार में एंट्री करने से हिचकिचाती रही है. लेकिन रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी अगले साल के ऑटो एक्सपो में अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार को पेश करेगी. वह और टोयोटो मिलकर इस कार को डेवलप कर रही हैं. यह एक एसयूवी होगी और इसे YY8 कोड नेम से डेवलप किया जा रहा है. इस प्रोडक्ट को कंपनी पूरी दुनिया के बाजार में उतारेगी. इसे गुजरात के सुजुकी प्लांट में बनाया जाएगा. यहीं से बनी कार भारत सहित पूरी दुनिया में बेची जाएगी.

हुंदई क्रेटा से बड़ी और कीमत होगी कम
ऐसा माना जा रहा है कि यह इलेक्ट्रिक कार कंपनी की मौजूदा पेट्रोल-डीजल कारों से पूरी तरह अलग होगी. इस बारे में फ्रंटियर इंडिया वेबसाइट के लिए ऑटो एक्सपर्ट जोसेफ पी चाको ने एक रिपोर्ट लिखी है. इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि मारुति की यह कार उसकी प्रमुख प्रतिद्वंद्वी हुंदई की क्रेटा से बड़ी होगी. रिपोर्ट के मुताबिक इस संभावित कार की लंबाई 4.2 मीटर से ज्यादा होगी और इसकी व्हील बेस 2700 एमएम की होगी, जो एमजी मोटर की कार MG ZS VE से लंबी है. यह कार 27PL के प्लेटफॉर्म पर बनेगी. लॉन्ग व्हीलबेस होने के कारण इस संभावित कार में ग्राहकों को शानदार स्पेस मिलेगा.

500 किमी तक का रेंज
रिपोर्ट में ऐसा दावा किया गया है कि इस इलेक्ट्रिक कार में 48 किलो वाट और 59 किलो वाट की दो बैटरी ऑप्शन दिए जाएंगे. 48 किलोवाट बैटरी के साथ सिंगल चार्ज में यह कार 400 किमी और 59 किलोवाट के साथ सिंगल चार्ज में 500 किमी तक का सफर तक करेगी. इस कार के लिए चीन की बैटरी निर्माता कंपनी बीवाईडी LFP ब्लेड सेल वाली बैटरी की सप्लाई करेगी. ब्लेड सेल तकनीक वाली बैटरी बेहतर वेट, पैकेजिंग और रेंज देती है.

गाय के गोबर से प्राप्त बायोगैस से चलेगी कार:
कंपनी बायोगैस व्यवसाय पर भी ध्यान केंद्रित करेगी, जिसमें मवेशियों के गोबर से तैयार होने वाले बायोगैस का उत्पादन और आपूर्ति की जाएगी. इस बायोगैस का उपयोग सुजुकी के CNG मॉडल के लिए किया जा सकता है जो भारत में सीएनजी कार बाजार का लगभग 70% हिस्सा है. इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि, 10 गाय एक दिन में जितना गोबर करती है उससे तैयार बायोगैस एक कार के लिए प्रतिदिन की ड्राइव के लिए काफी है.

Related News

Latest News

Global News