×

पेमेंट ऐप पेटीएम ने 1,000 से ज्यादा कर्मचारियों को निकाला, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को दी गई प्राथमिकता

Location: भोपाल                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 2668

भोपाल: 26 दिसंबर 2023। पेटीएम ने अपने ऑपरेशन को "ट्रांसफॉर्म" करने के लिए 1,000 से ज्यादा कर्मचारियों को निकाल दिया है। कंपनी का कहना है कि यह बदलाव दक्षता बढ़ाने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) के इस्तेमाल से किया गया है।

कई टीमों में हुआ कटौती: वन97 कम्युनिकेशंस, पेटीएम की मूल कंपनी ने बताया कि यह कटौती ऑपरेशन, सेल्स और इंजीनियरिंग टीमों समेत कई इकाइयों में हुई है।

AI ने बढ़ाया दक्षता: मनीकंट्रोल की एक रिपोर्ट में पेटीएम के प्रवक्ता के हवाले से कहा गया है कि "हम दक्षता बढ़ाने के लिए AI-संचालित ऑटोमेशन के साथ अपने ऑपरेशन को बदल रहे हैं। हम दोहराए जाने वाले कार्यों और भूमिकाओं को हटा रहे हैं, जिसके परिणामस्वरूप ऑपरेशन और मार्केटिंग में हमारे कार्यबल में मामूली कमी आई है।"

15% कम होगा खर्च: पेटीएम के प्रवक्ता ने आगे कहा कि AI ने जितनी उम्मीद थी उससे ज्यादा बेहतर प्रदर्शन किया है, जिससे हम कर्मचारी लागत में 10-15% की बचत कर सकेंगे। इसके अलावा, हम साल भर में गैर-प्रदर्शन के मामलों का लगातार मूल्यांकन करते हैं।

नौकरी कटौती का कारण: इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में एक सूत्र के हवाले से कहा गया है कि पेटीएम में नौकरी कटौती पिछले कुछ महीनों में हुई है। यह कटौती 2023 में भारत की किसी नई तकनीकी कंपनी द्वारा किए गए सबसे बड़े नौकरी कटौती में से एक है।

2021 में भी हुआ था कटौती: 2021 में, पेटीएम ने गैर-प्रदर्शन के आधार पर 500 से 700 कर्मचारियों को हटाने का फैसला किया था।

लोन टीम में सबसे ज्यादा कटौती: मनीकंट्रोल की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से यह भी बताया गया है कि नौकरी कटौती लोन टीम का हिस्सा है।

ब्रोकरेज हाउसों ने भी जताई चिंता: कंपनी ने 7 दिसंबर को छोटे लोन को धीमा करने और बड़े लोन को बढ़ाने की योजना की घोषणा की थी। इस फैसले को ब्रोकरेज हाउसों ने भी अच्छा नहीं माना, जिसके कारण उन्होंने कंपनी के रेवेन्यू अनुमानों में कटौती की।

पेटीएम के शेयर गिरे: इसी दिन पेटीएम के शेयरों में लगभग 20% की गिरावट आई।

AI के बढ़ते इस्तेमाल पर चिंता: पेटीएम का यह कदम इस बात की ओर इशारा करता है कि कंपनियां दक्षता बढ़ाने के लिए AI का तेजी से इस्तेमाल कर रही हैं, लेकिन इससे बड़ी संख्या में कर्मचारियों को नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है। इस तरह के कदमों से बेरोजगारी बढ़ने की भी चिंता है।

कृप्या ध्यान दें: यह लेख एजेंसियों के इनपुट से तैयार किया गया है।

Related News

Latest News

Global News