मैं गौरवशाली, समृद्ध और विकसित मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए समर्पित हूँ : मुख्यमंत्री श्री चौहान

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 3977

Bhopal: मुख्यमंत्री ने सिंगल क्लिक से 1930 करोड़ रूपये किये अंतरित
77 शाला भवनों, 8 शिक्षा परिसरों और तीन छात्रावासों का लोकार्पण
मुख्यमंत्री श्री चौहान के चौथे कार्यकाल का एक वर्ष पूर्ण होने पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम सम्पन्न

23 मार्च 2021, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मैं वैभवशाली, गौरवशाली, समृद्ध और विकसित मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए स्वयं को पूर्णत: समर्पित करता हूँ। हम सबको मिलकर नये मध्यप्रदेश का निर्माण करना है। प्रदेश में रोटी, कपड़ा, मकान दवाई, पढ़ाई और सबके लिए रोजगार के अवसर के लिए हर संभव प्रयास जारी हैं। पानी बचाने, वृक्षारोपण, स्वच्छता, बेटियों के सम्मान, नशा मुक्ति अभियान और आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अपने स्तर पर पहल करनी होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान अपने चौथे कार्यकाल का एक वर्ष पूर्ण होने पर मिंटो हाल में आयोजित जन-कल्याणकारी योजनाओं पर केन्द्रित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

जन सेवा का एक साल पुस्तिका का किया विमोचन

कन्या पूजन और मध्यप्रदेश प्रदेश गान से आरंभ हुए इस कार्यक्रम में शिवराज सरकार के 'जन सेवा का एक साल' पुस्तिका का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम में वन मंत्री कुवंर विजय शाह, वित्त मंत्री श्री जगदीश देवड़ा, जनजातीय कार्य तथा अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह, राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा विज्ञान और प्रोद्यौगिकी मंत्री श्री ओम प्रकाश सकलेचा, पर्यटन,संस्कृति एवं आध्यात्म मंत्री सुश्री उषा ठाकुर और उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव उपस्थित थे। मंत्रि-परिषद के सदस्य, सांसद तथा विधायकों ने कार्यक्रम में वर्चुअली सहभागिता की।

सिंगल क्लिक से राशि जारी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राज्य स्तरीय कार्यक्रम में राहत राशि की द्वितीय किस्त के 1530 करोड़ रूपये, मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना 340 करोड़ रूपये, ग्रामीण पथ-विक्रेताओं को 60 करोड़ रूपये का ऋण उनके खातों में सिंगल क्लिक से जारी किया।

शिक्षा परिसरों तथा शाला भवनों का लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-जातीय कार्य विभाग द्वारा 219 करोड़ 75 लाख रूपये की लागत से निर्मित आठ कन्या शिक्षा परिसर भवनों तथा स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत 104 करोड़ 74 लाख रूपये की लागत से निर्मित 77 शाला भवनों और तीन छात्रावासों का वर्चुअल लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा बड़वानी जिले में पाटी, निवाली, बड़वानी और सेंधवा तथा अलीराजपुर में सोंडवा, शिवपुरी जिला, बैतूल में भैंसदेही में और होशंगाबाद में पंवारखेड़ा के शिक्षा परिसर का लोकार्पण किया।

जनता के जीवन को आसान बनाना ही सुशासन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के सपने को पूरा करते मध्यप्रदेश में हर वर्ग के व्यक्ति की सहायता और उत्थान के लिए कार्य किया जा रहा है। विभिन्न योजनाओं में एक लाख 18 हजार करोड़ रूपये की सहायता सीधे प्रदेशवासियों के खातों में डाली गई। कोरोना के कठिन काल में 129 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूँ की खरीदी पर 25 हजार करोड़ रूपये किसानों के खातों में डाले गये। जीवन को आसान बनाने और सुशासन की अवधारणा को साकार रूप देते हुए मोबाइल पर खसरा-खतौनी, नक्शे की नकल, आय तथा मूल निवास प्रमाण-पत्र प्रदान करने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। भू-माफियाओं के कब्जे से 9 हजार करोड़ से अधिक जमीन को मुक्त कराया गया है। हर घर में नल से जल उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश में जल जीवन मिशन कार्यरत है। केन-बेतवा नदी जोड़ो योजना से बुंदेलखण्ड क्षेत्र की तस्वीर बदलने का काम शुरू हो चुका है।

वायरस अभी जिन्दा है- मेरी सुरक्षा मेरा मास्क

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 23 मार्च 2020 का स्मरण करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण की चुनौतीपूर्ण स्थितियों के बीच मैंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इन कठिन परिस्थितियों में अटल जी की कविता 'हार नहीं मानूंगा' मेरी प्रेरणा-स्रोत बनी। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के संबल और आशीर्वाद, अधिकारियों की टीम के सहयोग और जनता के साथ के परिणामस्वरूप हम उन कठिन परिस्थितियों पर विजय प्राप्त करने में सफल हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना का संकट अभी गया नहीं है। वायरस अभी जिन्दा है। इससे बचना जरूरी है और मास्क ही हमारी सुरक्षा है। इसके लिए अभियान आरंभ किया गया है। हमें यह समझना होगा कि कोरोना से 90 प्रतिशत बचाव मास्क से ही होता है। दूरी बनाये रखने के नियम का भी पालन करना आवश्यक है।

मेरी सरकार जन-कल्याण वाली सरकार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मेरी सरकार जन-कल्याण वाली सरकार है। कोरोना काल में चौपट हुई अर्थ-व्यवस्था में भी हर जरूरतमंद की सहायता की गई। तीन लाख 23 हजार से ज्यादा छोटे शहरी कारोबारियों को दस-दस हजार रूपये की सहायता उपलब्ध कराई गई। प्रदेश में ग्रामीण स्ट्रीट वेंडरों के लिए भी विशेष योजना बनाकर उनके खातों में राशि डाली गई। इस योजना में आज एक साथ 60 हजार से अधिक पथ विक्रेताओं को ऋण वितरित किया जा रहा है।

राज धर्म निभाना होगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कानून का राज बनाये रखने के लिए मैं आरंभ से ही प्रतिबद्ध हूँ। पहले कार्यकाल में प्रदेश में सक्रिय डाकू गिरोहों का सफाया किया। इसी क्रम में सिमी का नेटवर्क धवस्त किया गया। जो भी तत्व जनता के विरोधी होंगे उन पर कठोर कार्यवाही होगी, राजधर्म निभाना होगा। इसी क्रम में हाल ही में दस हजार करोड़ रूपये की भूमि, माफियाओं से मुक्त कराई गई है और 40 हजार करोड़ रूपये मूल्य की जमीन वास्तविक भू-स्वामियों को लौटाई गई। चिटफंड कम्पनियों से 900 करोड़ रूपये से ज्यादा राशि वापस दिलाई गई है। इस प्रकार की कार्यवाहियाँ लगातार जारी रहेंगी।

टीआई बन सकेंगे डीएसपी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिए विभिन्न स्तरों पर पर्याप्त पुलिस बल की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। इसी क्रम में पात्र पुलिस निरीक्षकों को उप पुलिस अधीक्षक के पद पर पदोन्नति दी जा रही है।

अगले माह करेंगे 1800 से अधिक कारखानों का एक साथ उदघाटन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस वर्ष राज्य का सकल घरेलू उत्पाद दस लाख करोड़ रूपये से अधिक होगा। प्रत्येक व्यक्ति की आय को बढ़ाने के लिए भी हर संभव प्रयास जारी हैं। आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण की दिशा में कार्य करते हुए अगले माह 1800 से अधिक कारखानों का एक साथ उदघाटन किया जायेगा। प्रदेश में शिक्षा की गुणवत्ता के लिए सर्वसुविधा सम्पन्न स्कूल, पर्यटन विकास, सौर, पवन ऊर्जा और सड़कों के विकास के लिए सभी क्षेत्रों में गतिविधियाँ जारी हैं।

Related News

Latest Tweets

Latest Posts