×

चीन ने फ्यूजन तकनीक में सफलता हासिल की: "कृत्रिम सूर्य" ने पहला प्लाज्मा डिस्चार्ज उत्सर्जित किया

prativad news photo, top news photo, प्रतिवाद
Location: भोपाल                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 1585

भोपाल: 22 जून, 2024। एक महत्वपूर्ण वैज्ञानिक सफलता में, चीन की निजी फ्यूजन कंपनी, एनर्जी सिंगुलैरिटी ने "कृत्रिम सूर्य" नामक एक उपकरण में दुनिया का पहला पूर्ण रूप से उच्च तापमान वाला सुपरकंडक्टिंग टोकामक बनाकर और उसका सफलतापूर्वक संचालन करके फ्यूजन ऊर्जा के क्षेत्र में एक बड़ी छलांग लगाई है।

यह उपकरण, जिसे HH70 नाम दिया गया है, शंघाई में स्थित है और इसे संभावित रूप से स्वच्छ ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए फ्यूजन तकनीक के विकास में एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है।

टोकामक एक डोनट के आकार का उपकरण है जो प्लाज्मा को नियंत्रित करने और उसे गर्म करने में सक्षम है, ताकि सूर्य में पाए जाने वाले तापमान का अनुकरण किया जा सके। इसका उद्देश्य सुरक्षित और असीमित मात्रा में बिजली का उत्पादन करना है। इन उपकरणों को अक्सर "कृत्रिम सूर्य" के रूप में जाना जाता है।

यह तकनीक फ्यूजन प्रतिक्रियाओं द्वारा उत्पन्न अत्यधिक उच्च तापमान का उपयोग करती है, जिसमें हाइड्रोजन परमाणुओं को हीलियम में परिवर्तित किया जाता है, जिससे भारी मात्रा में ऊर्जा निकलती है। टोकामक, जो बड़ी और महंगी मशीनें हैं, चुंबकीय क्षेत्र उत्पन्न करने में सक्षम हैं जो प्लाज्मा के अंदर कणों को नियंत्रित करते हैं।

सफलता का महत्व:

एनर्जी सिंगुलैरिटी की सफलता महत्वपूर्ण है क्योंकि यह दर्शाता है कि चीन फ्यूजन ऊर्जा के क्षेत्र में अग्रणी है। यह तकनीक पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों की तुलना में स्वच्छ और अधिक टिकाऊ ऊर्जा प्रदान करने की क्षमता रखती है, जिससे जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद मिल सकती है।

चुनौतियां:

हालांकि, फ्यूजन ऊर्जा को व्यावसायिक रूप से व्यवहार्य बनाने से पहले कई चुनौतियों को दूर करने की आवश्यकता है। मुख्य चुनौतियों में टोकामक को पर्याप्त रूप से गर्म करना शामिल है ताकि फ्यूजन प्रतिक्रियाएं हो सकें, और ऊर्जा उत्पादन की तुलना में अधिक ऊर्जा का उपयोग किए बिना ऐसा करना।

निष्कर्ष:

चीन की फ्यूजन तकनीक में सफलता एक महत्वपूर्ण वैज्ञानिक उपलब्धि है। यह दर्शाता है कि देश स्वच्छ ऊर्जा के भविष्य में अग्रणी भूमिका निभाने के लिए प्रतिबद्ध है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि फ्यूजन ऊर्जा अभी भी विकास के शुरुआती चरण में है, और व्यावसायिक रूप से व्यवहार्य होने से पहले कई चुनौतियों को दूर करने की आवश्यकता है।

Related News

Latest News

Global News