कोर्टयार्ड बाय मैरियट में अब कुछ इस तरह मिलेंगी एंट्री

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 285

Bhopal: होटल समूह भोपाल सहित पूरी दुनिया में मेहमाननवाजी को कोरोना सुरक्षित बनाने ले रहा टेक्नालॉजी की मदद
एंट्री के पहले होगा गेस्ट व उनके लगेज का सेनीटाइजेशन
रिसेप्शन की बजाय मोबाइल एप्प या ईमेल से होगा रूम चेक इन, मोबाइल एप्प से ही होगा खाना ऑर्डर
आईपेड के जरिये मिलेगा बिल और ई वॉलेट से हो सकेगा भुगतान
अल्ट्रावायलेट किरणों से होगी चाबियों, कम्प्यूटरों व हैंडल्स आदि की वायरस स्कैनिंग व क्लीनिंग
इलेक्ट्रोस्टैटिक स्प्रेयर से रोजाना पूरा होटल होगा सेनीटाइज
होटल में जगह-जगह लगाये जाएंगे हैंड सेनीटाइजिंग स्टेशन
कर्मचारी रहेंगे ग्लब्स व मास्क से लैस, मेहमानों को भी पहनना होगा मास्क
13 मई 2020। कोविड-19 के दीर्घकालीन खतरे को देखते हुए मैरियट इंटरनेशनल ने अपने मेहमानों व सहयोगियों की सुरक्षा के लिए स्वच्छता मानकों को और अधिक कड़ा बनाने का निर्णय लिया है। पिछले 92 वर्षों से हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री में अपनी गुणवत्ता, सटीक मानदंडों व कड़े प्रशिक्षण के लिए विख्यात मैरियट समूह का मानना है कि नये प्रयासों से वर्तमान महामारी के वातावरण से उत्पन्न हुई स्वास्थ्य और सुरक्षा चुनौतियों से लड़ने में महत्वपूर्ण मदद मिलेगी। इसके लिए समूह ने मैरियट ग्लोबल क्लीनलीनेस काउंसिल का गठन किया है जो स्वच्छता मानदंडों को बनाने के साथ उनका पालन समूह के सभी होटलों करा रही है।
कोर्टयार्ड बाय मैरियट, भोपाल के महाप्रबंधक राकेश उपाध्याय ने बताया कि हमारे मेहमानों ने हममें वर्षों से जो विश्वास दिखाया है, उसके लिए हम उनके आभारी हैं। मेहमानों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। हम चाहते हैं कि हमारे मेहमान यह समझें कि विश्वव्यापी महामारी के दौर में हम उनकी सुरक्षा के लिए आज क्या कर रहे हैं और निकट भविष्य में साफ सफाई, स्वच्छता और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर हमारी क्या योजना है। वे जब होटल में प्रवेश करें तो उनके स्वास्थ्य के प्रति हमारी तैयारी उन्हें साफ नजर आए। इसके लिए हमने सभी स्तर के कर्मचारियों व अधिकारियों को साफ-सफाई की प्रक्रियाओं का विशेष प्रशिक्षण देने के साथ साथ नवीनतम तकनीक की भी मदद ली है। हमारा ध्यान स्वास्थ्य खतरों को शून्य करने व सुरक्षा को बढ़ाने पर केंद्रित है ताकि मेहमान निश्ंिचत होकर होटल की सेवाओं का आनंद उठा सकें।

उन्होंने आगे बताया कि हमारा समूह हाउसकीपिंग, इंजीनियरिंग, फूड सेफ्टी, ऑक्यूपेशनल हेल्थ जैसे विषयों पर इन-हाउस और बाहर के अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की मदद ले रहा है। ये विशेषज्ञ हमें संक्रमण को रोकने के उपायों पर महत्वपूर्ण सुझाव प्रदान कर रहे हैं। हमें जो सुझाव मिले हैं उनमें सुरक्षा उपायों में होटल में प्रवेश के पूर्व मेहमानों व लगेज का सेनीटाइजेशन, होटल के सार्वजनिक स्थानों जैसे लिफ्ट, कॉरीडोर, कान्फ्र्रेंस हॉल, बैंक्वेंट, स्वीमिंग पूल, जिम, टॉयलेट्स व गेस्ट रूम्स का रखरखाव, पीने का पानी, खाना तैयार करने व सर्व करने की प्रक्रिया आदि शामिल हैं। साथ ही रेस्टारेंट व बार में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने को भी सुरक्षा प्राथमिकता सूची में शामिल किया गया है। अब रेस्टारेंट में दो टेबलों के बीच कम से कम डेढ़ मीटर की दूरी रखी जाएगी। चूंकि ऐसा होने से रेस्टारेंट की सीटिंग क्षमता आधी रह जाएगी इसलिए मेहमानों की सुविधा के लिए हम ब्रेकफास्ट, लंच व डिनर के समय में वृद्धि करने की सोच रहे है।

श्री राकेश ने कहा कि मैरियट में गेस्ट रूम की देखभाल और होटल के सार्वजनिक स्थानों में स्वच्छता पर जोर देने की एक लंबी परंपरा है। विशेषज्ञों की परिषद और वैज्ञानिक सलाह के माध्यम से, हम स्वच्छता के एक उच्चतम स्तर को स्थापित करने और नए अतिथि प्रोटोकॉल को विकसित करने के लिए एक विचारशील दृष्टिकोण ले रहे हैं। हमारा ध्यान अपने होटल को वायरस फ्री बनाये रखने पर अधिक केंद्रित है।
उन्होंने कहा कि अगले कुछ महीनों में हम और भी उन्नत तकनीकों को शामिल करने जा रहे हैं। इसमें पूरे होटल में फ्लोर को साफ करने के लिए अस्पताल-ग्रेड कीटाणुनाशक के साथ इलेक्ट्रोस्टैटिक स्प्रेयर शामिल हैं। इलेक्ट्रोस्टैटिक छिड़काव तकनीक रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा अनुशंसित कीटाणुओं के उच्चतम वर्गीकरण का उपयोग करती है। स्प्रेयर तेजी से पूरे क्षेत्रों को साफ और कीटाणुरहित करता है और होटल के कमरे, लॉबी, जिम और अन्य सार्वजनिक क्षेत्रों को साफ और कीटाणुरहित करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा हम अपने सहयोगियों और उनके द्वारा साझा किए जाने वाले उपकरणों के लिए अल्ट्रावायलेट टेक्नालॉजी का भी परीक्षण कर रहे हैं।

श्री राकेश ने यह भी बताया कि सीडीसी और डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 के व्यक्ति-से-व्यक्ति को रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग की सलाह दी है। इस जोखिम को कम करने के लिए व मेहमानों को याद दिलाने के लिए हम अपनी लॉबियों में साइनेज का उपयोग कर रहे हैं ताकि सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल को बनाए रखा जा सके। साथ ही हम बैठने के लिए टेबल व कुर्सियों आदि की व्यवस्था को भी सोशल डिस्टेंसिंग मानकों के अनुरूप बनाने जा रहे हैं।

मैरियट के खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम में स्वच्छता और व इससे जुड़े सभी परिचालन सहयोगियों के लिए स्वच्छता संबंधी दिशानिर्देश और प्रशिक्षण वीडियो शामिल हैं। मैरियट में, सभी भोजन संचालकों और पर्यवेक्षकों को सुरक्षित भोजन तैयार करने और सेवा प्रथाओं पर प्रशिक्षित किया जाता है। दिशानिर्देश के रूप में कंपनी के खाद्य सुरक्षा मानकों का उपयोग करके मैरियट के भोजन और पेय संचालन को आत्म-निरीक्षण करने की आवश्यकता होती है, और अनुपालन स्वतंत्र अधिकारियों द्वारा मान्य है। इसके अलावा, कंपनी इन-रूम डाइनिंग और बफ़ेट्स के लिए नए दृष्टिकोणों को डिजाइन करने के लिए अपनी परिचालन प्रथाओं को संशोधित कर रही है।

होटल द्वारा उठाये जा रहे कुछ प्रमुख कदमों पर एक नजर

किचन की की बार-बार डीप क्लीनिंग, सेनीटाइजेशन व फ्यूमीगेशन
सभी एसोसिएट्स के लिए पीपीई अनिवार्य एवं समय-समय पर ग्लव्स व फेस मास्क का बदला जाना
होटल में आने वाले खाने-पीने व अन्य सामान का एंट्री के पहले ही सेनीटाइजेशन
इन सामग्री को लाने वाले वाहनों का सेनीटाइजेशन
सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने के लिए रेस्टारेंट में लगाये जाने वाले बुफे की व्यवस्था मंे बदलाव
बुफे में रखे जाने वाले खाने को संक्रमण से बचाने के लिए स्नीज गार्ड्स की व्यवस्था
हर शिफ्ट के लिए एक हायजीन इंचार्ज की नियुक्ति
रूम और रेस्टारेंट में प्रिंटेड की बजाय डिजीटल मैन्यू कार्ड यानि मोबाइल एप्प से खाना होगा ऑर्डर
टेबलों पर सिंगल यूज मैट का होगा इस्तेमाल साथ ही रखे जाएंगे सेनीटाइजर वाइप्स
बुफे की बजाय अलाकाते अथवा टीडीएच मैन्यू पर रहेगा जोर
पैकेजिंग में होगा सिंगल यूज व डिस्पोजेबल मटेरियल का इस्तेमाल
बैंक्वेट हॉल में बुफे की बजाय बेंटो बॉक्स या पैक्ड मील मिलेगा
लिफ्ट में केवल दो लोगों को जाने की होगी इजाजत

Related News

Latest Tweets