×

कैलिफोर्निया के एआई सुरक्षा बिल को लेकर बड़ी टेक कंपनियां नाखुश क्यों?

prativad news photo, top news photo, प्रतिवाद
Location: भोपाल                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 1941

भोपाल: 28 जून 2024। कैलिफोर्निया, जो तकनीकी दिग्गजों का केंद्र है, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) सुरक्षा पर ध्यान देने वाले एक प्रस्तावित बिल के साथ चर्चा में है। कुछ लोग इसे एक आवश्यक कदम मानते हैं, वहीं बड़ी टेक कंपनियां चिंता व्यक्त कर रही हैं।

राज्य सीनेटर स्कॉट वीनर द्वारा लिखा गया यह बिल, शक्तिशाली एआई मॉडल के प्री-रिलीज़ परीक्षण को अनिवार्य करता है ताकि संभावित जोखिमों का पता लगाया जा सके। यह हैकिंग के खिलाफ सुरक्षा उपायों के निर्माण और जरूरत पड़ने पर एआई को पूरी तरह से बंद करने की क्षमता पर भी जोर देता है। कंपनियों को परीक्षण प्रक्रियाओं और सुरक्षा उपायों का खुलासा कैलिफोर्निया डिपार्टमेंट ऑफ टेक्नोलॉजी के सामने करना होगा।

बड़ी टेक कंपनियां क्यों सतर्क हैं

टेक कंपनियां इस बिल के खिलाफ कई बिंदु उठाती हैं। उनके कुछ मुख्य तर्क इस प्रकार हैं:

नवाचार में रुकावट: मेटा के मुख्य एआई वैज्ञानिक यान लेकुन जैसे उद्योग जगत के अग्रणी नेताओं का तर्क है कि अंतर्निहित तकनीक को विनियमित करना नवाचार को बाधित करता है। उनका मानना है कि विनियमों को एआई के विशिष्ट अनुप्रयोगों को लक्षित करना चाहिए, न कि तकनीक को ही।

अत्यधिक व्यापक और अस्पष्ट: तकनीकी उद्योग को लगता है कि बिल की भाषा अस्पष्ट है, जिससे अनुपालन मुश्किल हो जाता है। उनका तर्क है कि "असुरक्षित व्यवहार" की परिभाषा व्यक्तिपरक है और इससे अनावश्यक बाधाएं पैदा हो सकती हैं।

ओपन सोर्स विकास में बाधा: कुछ लोगों को डर है कि यह बिल ओपन-सोर्स एआई टूल्स तक पहुंच को सीमित कर सकता है, जिससे संभावित रूप से इस क्षेत्र में सहयोग और प्रगति बाधित हो सकती है।

एक ट्रेंडसेटर के रूप में कैलिफोर्निया

टेक नियमन में कैलिफोर्निया की भूमिका महत्वपूर्ण है। यदि पारित हो जाता है, तो यह बिल राष्ट्रव्यापी स्तर पर एआई सुरक्षा मानकों के लिए एक मिसाल कायम कर सकता है। अन्य राज्य पहले से ही इसी तरह के कानून से जूझ रहे हैं, और कैलिफोर्निया के कार्यों से संघीय दृष्टिकोण प्रभावित हो सकता है।

यह बहस तेजी से विकसित हो रहे क्षेत्र को विनियमित करने की जटिलताओं को उजागर करती है। नवाचार और संभावित जोखिमों के बीच संतुलन बनाना एक चुनौती है जिसका सामना दुनिया भर के नीति निर्माताओं को एआई के साथ करना पड़ रहा है।

Related News

Latest News

Global News