×

नई संसद में पीएम मोदी का पहला संबोधन: अतीत की कड़वाहट भुलाकर आगे बढ़ें, महिलाओं को मिलेगा 33% आरक्षण

Location: भोपाल                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 2094

भोपाल: 19 सितंबर 2023। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 सितंबर को नई संसद भवन में अपना पहला संबोधन दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि भवन बदल गया है, अब भाव और भावना भी बदलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में देश में चुनाव होने वाले हैं, ऐसे में लोगों का व्यवहार ही तय करेगा कि कौन सत्ता पक्ष में बैठेगा और कौन विपक्ष में। नए संकल्प के साथ नई संसद में आएं और नए भारत की नींव रखें। उन्होंने कहा कि अतीत की कढ़वाहट को भुलाकर आगे बढ़ना है।



महिला आरक्षण पर पीएम मोदी ने कहा कि यह महिलाओं के लिए इतिहास बदलने का समय है। कई बार महिला आरक्षण बिल पेश हुआ, लेकिन इस बार कैबिनेट से इस पर मुहर लग गई है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार एक प्रमुख संविधान संसोधक विधेयक प्रस्तुत कर रही है। इस विधेयक में नारी शक्ति वंधन अधिनियम के माध्यम से हमारा लोकतंत्र और मजबूत होगा। इसके लिए मैं अपनी माताओं, बहनों और बेटियों को बधाई देता हूं। हम इस बिल को कानून बनाने के लिए संकल्पबद्ध हैं। मैं इस सदन में सभी साथियों से आग्रहपूर्वक निवेदन करता हूं कि सर्वसम्मति से इस बिल को पारित करें।

पीएम मोदी ने कहा कि नारी शक्ति वंधन अधिनियम से महिलाओं को मजबूती मिलेगी और इसके लिए बधाई। आज की तारीख भारत के इतिहास में अमर हो गई है।

यह संबोधन कई मायनों में ऐतिहासिक है। पहली बार किसी प्रधानमंत्री ने नई संसद भवन में संबोधन दिया। दूसरी बार, महिलाओं के लिए 33% आरक्षण को लेकर एक बड़ा कदम उठाया गया है। उम्मीद है कि यह बिल जल्द ही पारित हो जाएगा और महिलाओं को राजनीति में समान प्रतिनिधित्व मिलेगा।

Related News

Latest News

Global News