×

गूगल का डार्क वेब रिपोर्ट फीचर: अब आप पता कर सकेंगे कि आपका पर्सनल डेटा लीक हुआ है या नहीं

Location: भोपाल                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 2304

भोपाल: 18 अक्टूबर 2023। गूगल ने हाल ही में भारत सहित दुनियाभर के देशों में अपना डार्क वेब रिपोर्ट फीचर लॉन्च किया है। यह फीचर यूजर्स को यह जानने में मदद करता है कि कहीं उनका पर्सनल डेटा लीक तो नहीं हुआ है। डार्क वेब एक ऐसी जगह है जहां गैरकानूनी गतिविधियां होती हैं, और यहां पर अक्सर लोगों की निजी जानकारी को बेचा जाता है। गूगल का डार्क वेब रिपोर्ट फीचर यूजर्स को डार्क वेब पर अपनी जानकारी की निगरानी करने में मदद करता है।

गूगल का डार्क वेब रिपोर्ट फीचर Google One और फ्री दोनों तरह के यूजर्स के लिए मुफ्त में उपलब्ध है।
यह फीचर यूजर्स को यह जानने में मदद करता है कि कहीं उनका पर्सनल डेटा लीक तो नहीं हुआ है।
डार्क वेब रिपोर्ट फीचर यूजर्स को अपने ईमेल अकाउंट, फोन नंबर या सोशल मीडिया अकाउंट से लीक हुए डेटा के बारे में जानकारी देता है।
यदि डाटा लीक में आपकी निजी जानकारी शामिल होगी तो गूगल आपको पासवर्ड बदलने जैसे सुझाव भी देगा।
कैसे काम करता है?

गूगल का डार्क वेब रिपोर्ट फीचर डार्क वेब पर मौजूद डेटाबेस को स्कैन करता है। इस स्कैन में ईमेल एड्रेस, फोन नंबर, सोशल मीडिया अकाउंट आदि शामिल होते हैं। यदि किसी यूजर्स की जानकारी इस स्कैन में मिलती है, तो उसे एक रिपोर्ट भेजी जाती है। इस रिपोर्ट में यह बताया जाता है कि यूजर्स की जानकारी किस साइट पर लीक हुई है।

कैसे चालू करें?
अपने अकाउंट में डार्क वेब रिपोर्ट फीचर चालू करने के लिए, आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा:

अपने फोन में Google एप का लेटेस्ट वर्जन डाउनलोड और इंस्टॉल करें।
Google एप खोलें और अपने अकाउंट में लॉग इन करें।
प्रोफाइल आइकन पर टैप करें।
"सुरक्षा और खाता" पर टैप करें।
"डार्क वेब रिपोर्ट" पर टैप करें।
"Run scan" पर टैप करें।

सुझाव:
यदि आपको डार्क वेब रिपोर्ट में कोई लीक जानकारी मिलती है, तो तुरंत अपने पासवर्ड बदल दें।
अपने सभी डिवाइसों पर दो-कारक प्रमाणीकरण (2FA) सक्षम करें।
अपने डेटा को सुरक्षित रखने के लिए मजबूत पासवर्ड चुनें।

गूगल का डार्क वेब रिपोर्ट फीचर एक महत्वपूर्ण सुरक्षा सुविधा है। यह फीचर यूजर्स को यह जानने में मदद करता है कि कहीं उनका पर्सनल डेटा लीक तो नहीं हुआ है। यदि आपको डार्क वेब रिपोर्ट में कोई लीक जानकारी मिलती है, तो तुरंत अपने पासवर्ड बदल दें और अपने डेटा को सुरक्षित रखने के लिए अन्य उपाय करें।

Related News

Latest News

Global News