×

महिलाओं के लिए प्राइवेसी चेक: 2024 में आपके डेटा का उपयोग कैसे किया जा रहा है

Location: भोपाल                                                 👤Posted By: prativad                                                                         Views: 1524

भोपाल: 8 मार्च 2024। महिला सशक्तिकरण आज चर्चा का विषय है, लेकिन गोपनीयता और व्यक्तिगत अधिकारों के मामले में महिलाओं को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। आइए 2024 में महिलाओं के डेटा के उपयोग पर नज़र डालें।

प्रजनन स्वास्थ्य
फेमटेक नामक एक नया बाजार महिलाओं के स्वास्थ्य को प्रौद्योगिकी से जोड़ रहा है। मासिक धर्म ट्रैकिंग, जन्म नियंत्रण, और प्रजनन उपचार जैसे मुद्दों पर महिलाओं को सशक्त बनाने में मदद करने के लिए ऐप्स और सॉफ्टवेयर विकसित किए जा रहे हैं।

हालांकि, गोपनीयता एक बड़ी चिंता का विषय है। 2022 के एक अध्ययन में पाया गया कि अधिकांश महिला स्वास्थ्य ऐप्स व्यवहार ट्रैकिंग, स्थान ट्रैकिंग, और तीसरे पक्ष के साथ डेटा साझाकरण की अनुमति देते हैं।

रो बनाम वेड के पलटने के बाद, गर्भपात चाहने वाली महिलाओं पर मुकदमा चलाने के लिए इन ऐप्स से डेटा का इस्तेमाल किया जा सकता है।

ऑनलाइन उत्पीड़न
साइबरस्टॉकिंग और ऑनलाइन उत्पीड़न महिलाओं के लिए बड़ी समस्याएं हैं। 2021 में, 41% महिलाओं ने ऑनलाइन उत्पीड़न का अनुभव किया।

एआई स्त्रीद्वेष भी एक बढ़ती हुई समस्या है। एल्गोरिदम महिलाओं के खिलाफ लिंगभेद और भेदभाव को बढ़ा सकते हैं।

व्यक्तिगत डेटा का दुरुपयोग
व्यक्तिगत डेटा का दुरुपयोग महिलाओं को कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है। 2022 में, 14% महिलाओं ने अनुभव किया कि उनके व्यक्तिगत डेटा का दुरुपयोग उनके खिलाफ किया गया था।

डेटा गोपनीयता को लेकर महिलाओं को सचेत रहना चाहिए। उन्हें यह जानना चाहिए कि उनके डेटा का उपयोग कैसे किया जा रहा है और वे अपनी गोपनीयता की रक्षा के लिए क्या कर सकती हैं।

कुछ सुझाव:
गोपनीयता नीतियां पढ़ें और समझें कि आपके डेटा का उपयोग कैसे किया जाएगा।
मजबूत पासवर्ड का उपयोग करें और अपने डेटा को सुरक्षित रखें।
अपने डेटा को साझा करने के बारे में सावधान रहें।
अपने ऑनलाइन व्यवहार के बारे में जागरूक रहें।
यदि आप ऑनलाइन उत्पीड़न का अनुभव करती हैं, तो इसकी सूचना दें।
डेटा गोपनीयता एक महत्वपूर्ण अधिकार है। महिलाओं को अपनी गोपनीयता की रक्षा के लिए कदम उठाने चाहिए।

Related News

Latest News

Global News