विधानसभा सत्र में सभी विधायकों को करना होगा कोरोना प्रोटोकाल का पालन

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 243

Bhopal: जारी हुये दिशा-निर्देश
15 जुलाई 2020। आगामी 20 जुलाई से प्रारंभ होने वाले विधानसभा के मानसून सत्र में सभी विधायकों को कोरोना से बचाव संबंधी प्रोटोकाल का पालन करना होगा। इस संबंध में विधानसभा सचिवालय के प्रमुख सचिव एपी सिंह ने दिशा-निर्देश जारी कर दिये हैं।
यह रहेगी व्यवस्था :
सभी विधायको को पत्रक भाग-2 जारी कर कहा गया है कि मानसून सत्र में सदन में प्रवेश के पूर्व थर्मल स्क्रीनिंग एवं सेनेटाईजेशन आदि की व्यवस्था की गई है। संक्रमण से सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुये सदन को प्रतिदिन सेनेटाईज किया जायेगा। सभा में सदस्यों के बीच पर्याप्त दूरी बनी रहे इस हेतु साइड में अतिरिक्त कुर्सियां भी रखी गई हैं जिन पर आवश्यक्तानुसार बैठा जा सकता है। सदस्यों के बीच पर्याप्त दूरी बनी रहे, इस हेतु आसनों के बीच संकेत चिन्ह अंकित किये गये हैं जिससे सदस्यगण सामाजिक दूरी बना कर सदन की कार्यवाही में भाग ले सकेंगे।
इस दस बिन्दुओं का भी पालन करना होगा:
एक, सदस्यों को अपने मोबाईल फोन पर आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कर उसे एक्टिव मोड में रखें।
दो, सदन के अंदर और बाहर अपने मुंह एवं नाक को एन-95 या सर्जिकल मास्क अथवा साफ कपड़े से ढक कर रखें एवं आंख, नाक एवं मुंह को न छुयें। दास्तानों यानि ग्लब्स का प्रयोग करें।
तीन, छींक अथवा खांसी आने पर अपना मुंह एवं नाक किसी साफ कपड़े/रुमाल/टिश्यू पेपर से ढकें।
चार, भीड़-भाड़ वाले स्थान पर जाने से बचें।
पांच, सदन एवं सदन के बाहर सोश डिस्अेंसिंग का पालन करें।
छह, बुखार एवं खांसी होने पर किसी अन्य व्यक्ति से करीबी संपर्क न करें।
सात, यदि आप स्वस्थ्य महसूस नहीं कर रहे हैं अथवा बुखार/खांसी/सांस लेने में असुविधा महसूस कर रहे हैं तो ऐसी स्थिति में चिकित्सक से परीक्षण करायें तथा इसकी सूचना तुरंत विधानसभा सचिवालय तथा परिसर में स्थित डिस्पेंसरियों को भी दें।
आठ, चिकित्सक से परामर्श लेते सुय अपने मुंह एवं नाक को मास्क अथवा साफ कपड़े से ढक कर रखें।
नौ, परिसर में प्रवेश करते समय समस्त सदस्य सांची द्वार के समीप तैनात स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सा दल से सेनेटाईजेशन के पश्चात थर्मल स्क्रीनिंग एवं ऑकस्ीजन स्तर का परीक्षण करवायें।
दस, प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिये आयुष एवं होम्योपैथिक विभाग द्वारा प्रचारित काढ़े एवं दवा का सेवन चिकित्सकीय परामर्शनुसार करें।



- डॉ. नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets